केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले | Kesariya moong dal rasgulle in Hindi

0.0 from 0 रिव्यूज़
रेट करें
द्वारा Parul Jain
निर्मित तिथि 18th Jul 2017
  • केसरिया मूंग दाल  रसगुल्ले, How to make केसरिया मूंग दाल  रसगुल्ले
केसरिया मूंग दाल रसगुल्लेParul Jain
  • केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले | Kesariya moong dal rasgulle in Hindi (14 लाइक्स )

  • 0 रिव्यूज़
    रेट करें
  • Parul Jain
    निर्मित तिथि 18th Jul 2017

About Kesariya moong dal rasgulle in hindi

यह बरेली की प्रसिद्ध मिठाई है , इसको वहाँ रसभरी भी बोलते है, बनाने मे बहुत सरल है। आप भी बनाये और वाहवाही लूटे।

आज हम बहुत ही आसान और साधारण सा व्यंजन बनाएंगे जिसे सभी उम्र के लोगों के द्वारा पसंद किया जाता है। केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले बहुत ही स्वादिष्ट और लाजवाब व्यंजन है जो पुरे भारत में काफी लोकप्रिय है। केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले एक ऐसी डिश है नाम सुनते ही सबके मुँह में पानी आ जाता है । इस लज़्ज़तदार केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले को आप किसी भी पार्टी या विशेष अवसर पर बना सकते हैं । झटपट से बनने वाली इस रेसिपी की तैयारी में सिर्फ 30 मिनट का समय लगता है और अच्छी तरह से पकाने में 10 मिनट का समय लगता है। बेटर बटर के केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले इन हिंदी में आपको इसे बनाने की विधि हिंदी में मिलेगी जिसकी सहायता से आप बड़े ही आसानी से ढाबा स्टाइल केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले बना सकते हैं। Parul Jain द्वारा लिखी गयी इस रेसिपी में आपको इसे बनाने की क्रमशः विधि मिलेगी जो 10 लोगो को सर्वे करने के लिए पर्याप्त है। तो इंतज़ार किस बात का है जल्दी से ये आसान सी रेसिपी देखिये और घर पर केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले बना कर सबका दिल जीत लीजिये।

  • तैयारी का समय30मिनट
  • पकाने का समय10मिनट
  • पर्याप्त10लोग
केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले रेसिपी

केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले बनाने की सामग्री ( Kesariya moong dal rasgulle Banane Ki Samagri Hindi Me )

  • मूंग की धुली दाल -१ कप
  • चीनी - २ कप
  • पानी - ४ कप
  • इलायची पाउडर - १/४ चम्मच
  • केसर के धागे - १/२ चम्मच
  • पीला रंग - १ चुटकी
  • देसी घी तलने के लिए
  • बारीक कटे पिस्ता बादाम - सजाने के लिए

केसरिया मूंग दाल रसगुल्ले बनाने की विधि ( Kesariya moong dal rasgulle Banane Ki Vidhi Hindi Me )

  1. मूंग की धुली दाल को रात में भिगोए
  2. चीनी में पानी मिलाकर १ तार की चाशनी बना लें, चाशनी में इलायची पाउडर डालें । केसर के धागे डालें।
  3. अगले दिन अच्छे से धोकर मिक्सी में बारीक पीस लें।
  4. पीस कर पेस्ट बना लें
  5. अब इस पेस्ट को एक परात में निकाल लें , और हाथ से खूब अच्छे से फेंटे। दाल को तब तक फेंटे जब तक ये सफेद व हल्की ना हो जाये। दाल फूलकर दोगुनी हो जायेगी।
  6. फेंटने के बाद दाल में चुटकी भर पीला रंग मिलाएं और फेंटे।
  7. कड़ाई में देसी घी गरम करें , और मध्यम आंच पर कड़ाई में पकोड़ी की तरह रसगुल्ले डालने शुरू करें
  8. कड़ाई में डालते ही ये फूलकर डबल हो जायेंगे।
  9. अब इन रसगुल्लों को गरम गरम चाशनी में डालते जाएं।
  10. ४ से ५ घंटे चाशनी में डुबोकर रख दें, ये रस पीकर रसदार हो जायेंगे और स्वादिष्ट लगेगें।
  11. केसर के धागों ,कटे पिस्ते व बादाम से सजाकर गरम या ठंडे इच्छा अनुसार परोसें।
मेरी टिप: दाल को डबल होने तक अच्छे से हाथ से फेंटे नही तो रसगुल्ले टाइट हो जायेगे और रस भी अंदर नही जायेगा।

Reviews for Kesariya moong dal rasgulle in hindi (0)