Search

HOME / 5 खाने की चीज़ें जो आर्थराइटिस के दर्द को कम कर सकते हैं

5 खाने की चीज़ें जो आर्थराइटिस के दर्द को कम कर सकते हैं

Parul Sachdeva | May 2, 2018

5 खाने की चीज़ें जो आर्थराइटिस के दर्द को कम कर सकते हैं

पहले के जमाने में अर्थरिटिस यानी की जोड़ो का दर्द बुजुर्गो में पाया जाता था लेकिन गलत खान-पान और रहन-सहन की वजह से अब युवाओं में भी इसका असर देखा जा रहा है | लेकिन बहुत से खाद्य पदार्थ हैं जो अर्थरिटिस से जुड़े दर्द, सूजन और जलन को कम कर सकते हैं | कुछ सर्वेक्षणों के अनुसार २४% रह्युमेटोइड अर्थरिटिस के रोगियों पर उनके खान-पान का असर दिखा है |

खाने की ऐसी बहुत सी चीज़े हैं जिनका सेवन करने से जोड़ो के चुभनशील दर्द से आराम मिल सकता हैं | आइये जानते हैं ऐसे ही 5 खाद्य पदार्थों के बारे में –

1.अखरोट

 

 

अखरोट में कमाल के पोषक तत्त्व होते जैसे कि ओमेगा-३ फैटी एसिड्स जो कि आथ्रइटिस से होने वाली सूजन को कम करता हैं | और एक अध्यन के मुताबिक ओलिव आयल लेने वाले अर्थरिटिस रोगियों के मुकाबले ALA टाइप ओमेगा ३ एसिड्स (अखरोट में मौजूद ) लेने वाले अर्थरिटिस रोगियों ने कम दर्द महसूस किया है|

 

2.पालक

 

 

पालक में भारी मात्रा में एंटीओक्सीडेट्स और विटामिन्स होते हैं जो अर्थरिटिस की सूजन से राहत देते हैं | पालक में पाया जाने वाला कैम्प्फेरोल एंटीऑक्सीडेंट,रह्युमेटोइड आथ्रइटिस से जुड़ी सूजन को पैदा करने वाले एजेंट्स को ख़त्म करता है |

 

3.लहसुन

 

 

लहसुन में एक चमत्कारी कंपाउंड डाइलिल डाइसल्फ़ाइड होता हैं जो अर्थरिटिस के साथ-साथ बहुत सी बीमारियों को दूर करता है | डाइलिल डाइसल्फ़ाइड,उन एंजाइमों को उत्पन्न होने से रोकता है जो कि पहले से हुई लचीली हड्डियों को और नुक्सान पहुंचाते हैं |

 

4.ब्रोकोली

 

 

हम सब जानते हैं कि ब्रोकोली पोषक तत्वों से भरा हुआ है जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी है | यहाँ तक कि ब्रोकोली में पाए जाने वाला सल्फोराफेन कंपाउंड,रह्युमेटोइड अर्थरिटिस में पैदा होने वाली कोशिकाओं को रोकता है और उससे होने वाली सूजन को कम करता है |

 

5.फैटी फिश

 

 

फैटी फिश जैसे कि ट्राउट,मैकेरल और सैल्मन में ओमेगा ३ फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है जो शरीर में होने वाली सूजन को कम कर सकता है | ओमेगा ३ फैटी एसिड को अपनी डाइट में लेने से जोड़ो का दर्द और सुबह- सुबह होने वाली अकड़न बहुत हद्द तक कम होती है | सिर्फ यही नहीं बहुत से अध्यनों की माने तो ओमेगा ३ फैटी एसिड्स ओस्टियोआर्थराइटिस के दौरान होने वाली सूजन को भी कम करता है |

चित्र स्त्रोत- food to live, fresh option organic delivery, serving joy, pexels, the Indian truth