Search

Home / Nutrition in Hindi (पोषण) / Brown Rice Recipe In Hindi: जानिए ब्राउन राइस बनाने की विधि और सफेद चावल की तुलना में इसके फायदे!

Brown Rice recipe

Brown Rice Recipe In Hindi: जानिए ब्राउन राइस बनाने की विधि और सफेद चावल की तुलना में इसके फायदे!

Himanshu Pareek | अगस्त 17, 2021

चावल के हैं शौकीन पर सेहत की है फिक्र, तो शुरू कर दीजिए आपको हेल्दी और फिट रखने वाला ब्राउन राइस! इस आर्टिकल Brown Rice Recipe in Hindi में जानिए भूरा चावल खाने के फायदे और इसे पकाने की आसान विधि। 

चावल हमारे देश के प्रमुख खाद्यान्नों में से एक है। चावल की हमारे देश में कई किस्में उगाई जाती हैं, जिनमें से ब्राउन राइस सबसे सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। सफेद चावल की तुलना में ब्राउन राइस खाना हमारी सेहत के लिए कई गुना अधिक फायदेमंद होता है। ब्राउन राइस में प्राकृतिक रूप से सफ़ेद चावल से अधिक खनिज तत्व, विटामिन और अन्य न्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं एवं इसलिए ही ब्राउन राइस को पूर्ण अनाज का दर्जा भी प्राप्त है। ब्राउन राइस में मौजूद पोषक तत्वों की हमारे शरीर में आपूर्ति होने से हम कई तरह की बीमारियों से बच जाते हैं एवं हमारा स्वास्थ्य बेहतर बना रहता है। हालांकि कई लोग इस बात को लेकर कंफ्यूज रह सकते हैं कि ब्राउन राइस कैसे बनता है और क्या इसकी रेसिपी सफेद चावल से अलग होती है, इसलिए इस आर्टिकल Brown Rice Recipe in Hindi में हम आपके लिए लेकर आए हैं बहुत ब्राउन राइस बनाने की विधि। पर आइये उससे पहले जान लेते हैं ब्राउन राइस के फायदे। 

ब्राउन राइस के फायदे (Benefits of Eating Brown Rice)

Brown Rice Recipe in Hindi

ब्राउन राइस एवं सफेद राइस दोनों एक ही प्रकार के धान से निकाले जाते हैं पर ब्राउन राइस को निकालते समय ऊपर ब्रान को छोड़ दिया जाता है जिससे इसका रंग हल्का भूरा होता है। ब्राउन राइस पूरी तरह से प्राकृतिक होता है और इसमें ब्लीच का इस्तेमाल भी नहीं किया जाता आता है अतः यह खाने में अधिक सुरक्षित और पोषण की दृष्टि से सर्वश्रेष्ठ माना जाता है।

शोधों के अनुसार ब्राउन राइस फास्फोरस, मैंगनीज, सेलेनियम, पोटेशियम, विटामिन बी, मैग्नीशियम आदि खनिज तत्वों से भरपूर होता है। इसके अलावा इसमें फाइटोन्यूट्रिएंट्स एवं डाइटरी फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो हमारे वजन को नियंत्रित रखते हैं तथा संपूर्ण स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं। आइए जानते हैं ब्राउन राइस खाने के प्रमुख फायदे-: 

  • ब्राउन राइस घुलनशील फाइबर से परिपूर्ण होता है जिससे यह शरीर के अलग-अलग हिस्सों में फैट को जमने से रोकता है। इस प्रकार हमारा कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है। हमारे हृदय के अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी नियंत्रित कोलेस्ट्रॉल अति आवश्यक है। कोलेस्ट्रॉल अधिक होने पर हमारी रक्त धमनियों में अतिरक्त फैट जमा हो जाता है जिससे कि रक्त प्रवाह सुचारू रूप से नहीं हो पाता, और हार्ट स्ट्रोक व हृदयाघात का खतरा बढ़ जाता है। इस प्रकार ब्राउन राइस खाना हमारे दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखता है। 

 

  • ब्राउन राइस का सेवन करना मधुमेह के मरीजों के लिए भी अच्छा माना जाता है। सफेद चावल में शुगर लेवल हाई होता है जिसे खाने से मधुमेह के मरीजों को समस्या हो सकती है, पर इसके विकल्प में वे ब्राउन राइस का सेवन कर सकते हैं। ब्राउन राइस का ग्लेसिमिक इंडेक्स अत्यंत कम होता है और यह रक्त में शर्करा का स्तर नियंत्रित रखने में कारगर होता है। ब्राउन राइस को पचने में भी सफेद चावल की तुलना में अधिक समय लगता है जिससे रक्त में शर्करा के स्तर में अचानक आने वाले उतार-चढ़ाव से यह हमें बचाता है। 

जरूर पढ़ें: Poha Recipe In Hindi: जानिए सबसे टेस्टी पोहा तैयार करने की सबसे आसान विधि

  • जो लोग चावल के शौकीन हैं पर अपना वजन कम करना चाहते हैं, वे सफेद चावल की जगह ब्राउन राइस के सेवन से लाभ प्राप्त कर सकते हैं। ब्राउन राइस में सफेद चावल की तुलना में काफी अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है और पोषक तत्व भी अधिक होते हैं। ब्राउन राइस के ज़रिए शरीर में एक बार में पोषण की पर्याप्त मात्रा में आपूर्ति होने से हमें अधिक एवं बार-बार खाना नहीं खाना पड़ता। ब्राउन राइस में मौजूद फाइबर हमारे शरीर में जमा अतिरक्त फैट को काटने का कार्य भी भली-भांति करता है और वजन घटाने व शरीर को सुडौल बनाने में सहायक होता है। 

 

  • नियमित रूप से ब्राउन राइस खाना हमारी हड्डियों के लिए भी बहुत बेहतरीन माना जाता है क्योंकि इसमें प्रचुर मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है। कई शोधों में यह बात सामने निकल कर आई है कि ब्राउन राइस में 21% तक मैग्नीशियम मिल जाता है जिससे हमें ऑस्टियोपोरोसिस एवं गठिया रोग जैसी समस्याओं से लड़ने में सहायता मिलती है। ब्राउन राइस में कैल्शियम एवं विटामिन डी भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो कि हड्डियों के विकास में सहायक होते हैं।

 

  • हमारी पाचन शक्ति हमारे शारीरिक विकास के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है, एवं ब्राउन राइस में मिलने वाला घुलनशील फाइबर हमारी पाचन क्रिया को दुरुस्त करने में बड़ी भूमिका निभाता है। ब्राउन राइस में मौजूद मैंगनीज़ से शरीर में जमा अतिरिक्त वसा का नाश होता है। विशेषज्ञों के अनुसार ब्राउन राइस का नियमित सेवन हमें कब्ज एवं बवासीर जैसी गंभीर समस्याओं से बचाने में सहायक होता है। 

जरूर पढ़ें: Lunch Recipes In Hindi: 14 वो रेसिपीज़ जो लंच में बनाने के लिए हैं बेस्ट

उपरोक्त फायदों के अलावा ब्राउन राइस का सेवन कैंसर के खतरे को कम करने, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने, एवं बच्चों के समग्र विकास के लिए भी उचित माना जाता है। 

ब्राउन राइस कैसे बनता है ? (Brown Rice Recipe in Hindi) 

ब्राउन राइस के फायदे तो हम जान गए हैं, पर कई लोग ब्राउन राइस की रेसिपी को लेकर कंफ्यूज रहते हैं। आपको बता दें कि ब्राउन राइस को बनाने की रेसिपी कोई बहुत अधिक जटिल नहीं है, और इसे सफेद चावल जितनी आसानी से ही बनाया जा सकता है। इस आर्टिकल में आगे हम जानेंगे कि ब्राउन राइस बनाने के लिए हमें किन-किन चीजों की आवश्यकता होती है इसे कैसे तैयार किया जाता है। 

ब्राउन राइस बनाने की सामग्री (Ingredients for Brown Rice) 

हेल्दी ब्राउन राइस घर पर तैयार करने के लिए हमें निम्न चीजों की आवश्यकता होगी-: 

  • ब्राउन राइस 200 ग्राम
  • बारीक कटे छोटे प्याज
  • दालचीनी का टुकड़ा
  • 2 इलायची
  • 2 लौंग
  • 2 छोटी चम्मच शक्कर
  • एक छोटा चम्मच तेल
  • 4-5 काली मिर्च
  • आवश्यकतानुसार पानी

जरूर पढ़ें: Dinner Recipes In Hindi: 15 स्वादिष्ट और आसानी से बनने वाले रात के व्यंजन

ब्राउन राइस बनाने की विधि (How to Cook Brown Rice) 

उपरोक्त सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने के बाद निम्न विधि से ब्राउन राइस तैयार करें-: 

1. ब्राउन राइस बनाने की तैयारी करने के लिए सबसे पहले साफ-सुथरे ब्राउन राइस को पानी में 2 से 3 घंटे तक भिगोकर रखें। 

2. जब ब्राउन राइस अच्छे से भीग जाए, उसके बाद एक कढ़ाही में तेल गर्म करके उसमें थोड़ी देर तक कटे हुए प्याज को फ्राई करें। प्याज को फ्राई करने के दौरान इसमें शक्कर भी डाल दें और भूरा होने तक प्याज को भूनते रहें। 

3. इसके बाद कढ़ाही में अन्य मसाले डाल कर भी कुछ देर तक फ्राई करें।

4. अब कढ़ाही में आवश्यकतानुसार पानी डालकर कुछ देर तक उबालें। 

5. इसके बाद भीगे हुए चावलों का पानी निकालें और भीगे हुए चावलों को उबलते हुए पानी में डालकर कुछ देर तक धीमी आंच पर पकने दें। 

6. पानी के अच्छी तरह से उड़ जाने के बाद ब्राउन राइस पककर तैयार हो जाएंगे। इन चावलों को गैस पर से उतारें और अपनी मनपसंद कढ़ी, दाल या सब्जी के साथ सर्व करें। 

उपरोक्त रेसिपी के अलावा आप ब्राउन चावल का इस्तेमाल सफेद चावल की अन्य रेसिपीज जैसे बिरयानी, चावल मूंग की खिचड़ी, अथवा फ्राइड राइस बनाने के लिए भी कर सकते हैं। BetterButter स्पेशल चावल रेसिपीज़ देखने के लिए यहां क्लिक करें। 

सफेद चावल की तुलना में ब्राउन राइस स्वास्थ्य के लिए एक बेहतर विकल्प है। इस आर्टिकल Brown Rice Recipe in Hindi में हमने आपसे ब्राउन राइस के फायदे और ब्राउन राइस तैयार करने की रेसिपी शेयर की। कैसा लगा आपको यह आर्टिकल, हमें बताइए इसे शेयर कीजिए अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ। ऐसी ही अनमोल रेसिपीज़ और नई-नई जानकारी के लिए जुड़े रहिए BetterButter के साथ। 

जरूर पढ़ें: Chana Benefits in Hindi: जानिए रोज सुबह उठते ही भीगा चना खाने के फायदे!

Disclaimer-: BetterButter इस ब्लॉग में प्रकाशित किसी भी चित्र अथवा वीडियो का आधिकारिक दावा नहीं करता है। इस ब्लॉग में सम्मिलित दृश्य-श्रव्य सामग्री पर मूल रचनाकार के अधिकार का हम पूरा सम्मान करते है तथा प्रकाशित रचना का उचित श्रेय रचनाकार को देने का पूर्ण प्रयास करते है। अगर इस ब्लॉग में सम्मिलित किसी भी चित्र या वीडियो पर आपका कॉपीराइट है और आप उसे BetterButter पर नहीं देखना चाहते तो हमसे संपर्क करें। उक्त सामग्री को ब्लॉग से हटा दिया जायेगा। हम किसी भी सामग्री के लेखक, फोटोग्राफर एवं रचनाकार को उसका पूरा श्रेय देने में विश्वास करते है।

 

Himanshu Pareek

हिमांशु एक लेखक हैं और उन्हें खान-पान, आयुर्वेद, अध्यात्म एवं राजनीति से सम्बंधित विषयों पर लिखने का अनुभव है। इसके अलावा हिमांशु को घूमना, कविताएँ लिखना-पढ़ना और क्रिकेट देखना व खेलना पसंद है।

COMMENTS (0)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *