कैसा हो आपका शाम का नाश्ता – रुजुता दिवेकर

Spread the love

मशहूर डाइटीशियन और न्यूट्रीशनिस्ट रूजुता दिवेकर को आज कौन नहीं जानता। वह भारत की नंबर वन आहार विशेषज्ञ हैं जो बौलीवुड की जानी मानी हस्तियों के साथ साथ राजनीतिज्ञों तक को उनकी दिनचर्या, वजन और नियमित एक्सरसाइज के अलावा डाइट प्लान से जुड़ी सलाह देती हैं। वह इस विषय पर कई किताबों की लेखिका भी हैं और अपनी पूरी टीम के साथ लोगों को डाइट संबंधी सलाह देने का काम करती हैं।

हाल के दिनों में ये बात बहुत चर्चा में रही थी कि रुजुता दिवेकर के डाइट प्लान को फॉलो करके ही अनंत अम्बानी का वजन कम होना संभव हो पाया। करीना कपूर के ज़ीरो फिगर का राज़ भी रुजुता दिवेकर की सलाह ही है। उनके डाइट प्लान से लोगों को बहुत फायदा होता है और इसीलिए वह मशहूर हस्तियों के साथ साथ आम लोगों के बीच भी बहुत लोकप्रिय हैं। आप को आज हम बताने वाले हैं कि क्या सलाह देती हैं रुजुता दिवेकर शाम के नाश्ते को लेकर।

रुजुता कहती हैं सबसे पहले यह ज़रूरी है कि आप अपनी जड़ों को पहचानें और उस आहार को चुनें जो सदियों से हमारे खान पान का हिस्सा रहा है जैसे कि इडली, पोहा इत्यादि। वह कहती हैं, “आपका शाम का नाश्ता अच्छा होना चाहिए, लेकिन आप क्या खाएं यह इस बात पर निर्भर करता है कि उस के बाद आप का रात का खाना खाने का वक़्त क्या रहेगा। ये पूछने पर कि शाम चार से छह के बीच लगने वाली तेज़ भूख को शांत करने के लिए सबसे अच्छे सुझाव क्या हैं, अलग अलग लोगों के रात के खाने के समय के अनुसार उन्होने दिये ये टिप्स –

 

डिनर टाइम – रात को आठ से पहले –

साधारण भुने चने या थोड़े से देसी घी में भूनी गयी मूँगफली या मखाने आप के लिए सर्वोत्तम हैं क्यूंकि यह भूख को बेहतर नियंत्रित करते हैं साथ ही मौसमी फल या केला, चिक्की या घर में बनी चकली भी सबसे अच्छा नाश्ता  है। यह उन लोगों के लिए भी बहुत अच्छा है जो सुबह जल्दी जागते और रात में जल्दी सोते हैं साथ ही नियमित व्यायाम भी करते हैं। पीसीओएस और मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति भी निस्संकोच इसका प्रयोग कर सकते हैं।

 

डिनर टाइम – रात को नौ के बाद  –

यदि आप कामकाजी हैं और रात को नौ बजे के बाद खाना खाते हैं तो फिर यह आपके लिए बेस्ट नाश्‍ता है। एक चम्मच घी और गुड के साथ गेहूं की एक रोटी खाएं, यह रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर को भी बढ़ाएगा। साथ ही दही चावल का एक कटोरा या चटनी के साथ पूडी और घी के साथ इडली को अपने शाम के नाश्ते के मेन्यू में शामिल करें। यह निश्चित तौर पर ऊर्जा के स्तर में सुधार लाता है । लेकिन साथ ही यह याद रखें कि इस नाश्ते  के बाद नब्बे मिनट के अंतराल पर ही रात का खाना खाएं” यह रात को गहरी नींद के साथ साथ कब्‍ज की समस्या में भी फायदा करेगा।

 

अनियमित रूटीन वाले व्यक्तियों के लिए कैसा हो शाम का नाश्ता

अगर किसी कारणवश आपके लिए अपने रात के खाने का शेड्यूल तय करना संभव नहीं हो या आप को शाम के वक़्त किसी पार्टी में जाना हो तो पोहा, उपमा, बेसन के लड्डू, अंडे का टोस्ट या प्रोटीन शेक जैसे पेट भरने वाले विकल्प चुनें ताकि देर रात तक आपकी ऊर्जा में कमी न आए। तेज़ भूख लगने के कारण मूड स्विंग्स न हों और आपके इम्यून सिस्टम को भी बल मिले।

अब क्यूंकि आपके पास शाम के नाश्ते के संबन्धित रुजुता दिवेकर जैसी एक्सपर्ट के नायाब टिप्स हैं, हमारी भी एक सलाह मानते हुए अपने शाम के नाश्ते का डाइट प्लान आज ही बनाएँ और इन सुझावों का फायदा उठाएँ। रुजुता के आसान टिप्स के साथ अगर करीना परफेक्ट फिगर पा सकती हैं तो आप क्यूँ नहीं?

चित्र स्त्रोत: www.pixabay.com, https://commons.wikimedia.org, www.pxhere.com   www.yoututbe.com

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *