रिकवच (पात्रा) | Rikvach (patra) Recipe in Hindi

द्वारा Pratima Pradeep  |  16th Sep 2017  |  
5 से 1 रिव्यू रेट करें
  • Rikvach (patra) recipe in Hindi,रिकवच (पात्रा), Pratima Pradeep
रिकवच (पात्रा)Pratima Pradeep
  • तैयारी का समय

    45

    मिनट
  • पकाने का समय

    30

    मिनट
  • पर्याप्त

    8

    लोग

10

1

रिकवच (पात्रा) recipe

रिकवच (पात्रा) बनाने की सामग्री ( Rikvach (patra) Recipe Banane Ki Samagri Hindi Me )

  • 1 कप चना दाल (4-5 घंटे भिंगे हुए)
  • 1/4कप चावल (4-5घंटे भिंगे हुए)
  • 1 कप बेसन
  • 1 छोटा चम्मच हल्दी पाउडर
  • 2 छोटे चम्मच लहसुन हरी मिर्च का पेस्ट
  • 1/2 छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • 2 छोटे चम्मच अमचूर
  • 1/8छोटा चम्मच हीग पाउडर
  • 1 छोटा चम्मच जीरा
  • 15-16 अरवी के ताजे मूलायम पत्ते
  • नमक स्वादानुसार
  • तेल तलने के लिये

रिकवच (पात्रा) बनाने की विधि ( Rikvach (patra) Recipe Banane Ki Vidhi Hindi Me )

  1. अरवी के पत्ते को अच्छी तरह धुलकर सूखे कपडे से पोंछकर एक तरफ रख लें
  2. चावल दाल को अलग अलग थोडा थोडा़ पानी डालकर पिस लें
  3. एक बडे़ बाउल में पिसे हुए चावल, दाल, बेसन,लहसुन मिर्च पेस्ट, नमक, हल्दी,हींग,अमचूर, लाल मिर्च पाउडर डालकर अच्छी तरह मिला लें
  4. आवश्यकता हो तो थोडा़ पानी भी मिलाकर गाढा घोल तैयार कर लें
  5. अरवी पत्तों की डंडियों को चाकू की सहायता से निकाल लें
  6. किसी समतल थाली पर अरवी पत्ते को रखकर उसके ऊपर घोल फैलायें
  7. उसके उपर दूसरे पत्ते को रख कर पुनः घोल फैलायें
  8. इस प्रकार चार पांच पत्तों को एक के ऊपर एक रखते हुये घोल फैलाकर उन्हें किनारे से मोडें
  9. अब घोल लगे पत्तों को बेलनाकार मोड़ कर रोल तैयार करें
  10. इसी प्रकार सारे पत्तो से रोल तैयार कर लें
  11. और एक बडे़ बर्तन मे पानी गरम करें और उसके ऊपर जालीदार थाली रखकर रोल को रख कर भाप से पकायें
  12. लगभग दस मिनट बाद खोलकर चाकू की सहायता से देखें अगर चाकू मे बेसन का घोल चिपक रहा है तो थोडी देर औररख कर गैस बंद कर देंऔर तैयार रोल को प्लेट में निकालकर कर ठंडा होने दें
  13. ठंडा होने पर आधा आधा इंच का पत्ता रोल काट लें
  14. कढाई में तेल गरम करें, और कटे हुये रोल पर घोल लगाये
  15. और गरमतेल में उलट पलट कर सुनहरा तल लें
  16. आपका रिकवच तैयार है इसे थोड़ा ठंडा करके खट्टी और तिखीचटनी के साथ खायें खिलायें
  17. अरवी पत्ते कभी कभी गले में लगते हैं इसलिए इसमें खट्टा अच्छी मात्रा मे मिलाएं .और ठंडा होने पर खायें

मेरी टिप:

अरवी पत्ता रोल को आप बनाकर फ्रिज में रखकर आवश्यकता अनुसार दो तीन तक तल कर प्रयोग कर सकते हैं, आप बिना तलेभी खा सकते हैं

Reviews for Rikvach (patra) Recipe in hindi (1)

Ashima Singha year ago

Lajawaab...
Reply
Pratima Pradeep
a year ago
Thanx Ashima ...