Search

Home / Nutrition in Hindi (पोषण) / 7  खाने के पदार्थ जो आपको कभी भी अपने बच्चों को नहीं देने चाहिए

7  खाने के पदार्थ जो आपको कभी भी अपने बच्चों को नहीं देने चाहिए

Sonal Sardesai | नवम्बर 28, 2018

हर समय ही किसी बच्चे से हेल्थी खाना खाने की अपेक्षा करना किसी भी बच्चे और उसके माता-पिता दोनों के लिए परेशानी का कारण बन सकता है। बच्चों को कभी-कभी अपनी पसंद के भोजन का आनंद लेने की अनुमति भी दी जानी चाहिए, बशर्ते माता-पिता को इस बात की पूरी जानकारी हो की उनके बच्चे वास्तव में क्या खा रहे हैं। यद्यपि ऐसे कुछ पदार्थ हैं जो उनके खाने के लिए ठीक हैं, भले ही वे इतनी हेल्थी खाद्य पदार्थों की श्रेणी में न गिने जाते हों, लेकिन ऐसे कुछ पदार्थ भी हैं जो बच्चों को बिलकुल भी नहीं देने चाहिए।

यहां कुछ खाद्य पदार्थों की एक सूची दी गई है जिसे कभी भी बच्चे को नहीं खिलाने चाहिए-

 

1.पैकेज्ड फलों के रस / फ्रूट जूस

 

 

स्रोत: https://www.maxpixel.net/static/photo/1x/Fruit-Juices-Tomatoes-Tomato-Juice-Tomatoes-Juice-810036.jpg

आम तौर पर बच्चों और उनके माता-पिता, सभी को फलों के रस पसंद आते हैं। उनके रंगीन लेबल, उज्ज्वल रंग और आक्रामक विज्ञापन उन्हें बहुत आकर्षक बनाते हैं। हालांकि, फलों के रस और अन्य कृत्रिम रूप से मीठे पेय चीनी के भरे होते हैं। उनमें एक बच्चे द्वारा आवश्यक चीनी की अनुशंसित दैनिक

खुराक से कहीं अधिक चीनी मौजूद रहती है जो उनके स्वस्थ्य के लिए खराब है। विभिन्न अध्ययनों के द्वारा दांत क्षय (टूथ डीके), हृदय रोग और मोटापे की समस्याओं के साथ चीनी को जोड़ा गया है। ज़्यादा चीनी के सेवन व्यवहार संबंधी मुद्दों से भी जुड़ा हुआ है।

 

2.प्रॉसेस्ड मीट

स्रोत: https://cdn.pixabay.com/photo/2014/09/07/19/11/grill-438218_960_720.jpg

प्रॉसेस्ड मीट प्रेज़रवेटिव और अन-हेल्थी फैट्स से भरे रहते हैं और इनमें नमक और सोडियम की बहुत अधिक मात्रा मौजूद होती है। बच्चों को प्रोसेस्ड मीट (चिकन पैटी, हैम, सॉसेज इत्यादि) खाने के लिए प्रोत्साहित करना उन्हें जीवन की शुरुआत में ह्रदय से सम्बंधित  समस्याओं और वज़न बढ़ने के जोखिम को बढ़ावा देता है।

 

3.तले हुए नमकीन स्नेक्स

स्रोत: https://commons.wikimedia.org/wiki/File:KFC_-_Pressure-fried_Chicken_Wings_-_Kolkata_2013-02-08_4444.JPG

तले हुए नमकीन स्नेक्स में भी प्रेज़रवेटिव और कई अन्य अवयव होते हैं, जिनमें से कई प्राकृतिक भी नहीं होते हैं। उन्हें कुरकुरा बनाने के लिए मैदे से बने ब्रेड क्रम्ब्स होते है और इन्हें हाइड्रोजनेटेड तेल में तला

जाता है जिनमें ट्रांस-फैट भी होता है। इनमें सोडियम और सैचुरेटेड फैट्स भी मौजूद रहते हैं और कम गुणवत्ता वाले अवयव भी होते हैं। प्रेज़रवेटिव कैंसर से जुड़े होते हैं और ट्रांस-फैट हृदय की समस्याओं और

वज़न की समस्याओं से भी जुड़े होते हैं।

 

4.किड्ज़ मील्स

स्रोत: https://cdn.pixabay.com/photo/2015/10/12/15/18/food-984394_960_720.jpg

अधिकांश फास्ट फूड रेस्टुरेंट किड्ज़ मील्स की पेशकश करते हैं जिसमें एक बर्गर, ग्रील्ड सैंडविच, फ्रेंच फ्राइज़ और मीठे पेय शामिल रहते हैं। ये सभी बेहद अन-हेल्थी हैं। इनमें रिफाइंड आटा, प्रॉसेस्ड आलू और चीनी भारी मात्रा में मौजूद रहती हैं। इसके अलावा, उनमे भारी मात्रा में नमक, प्रेज़रवेटिव और खाने के रंग भी होते हैं। खाने के रंग में लेड होता है जो विकासशील और तंत्रिका तंत्र की समस्याओं का कारण बन सकता है। यह ब्लड प्रेशर भी बढ़ाता है और आगे के जीवन में गुर्दे की क्षति का कारण भी बन सकता है।

 

5.डिप्पिंग  सॉस

स्रोत: https://upload.wikimedia.org/wikipedia/commons/8/84/Lunch_sauces.jpg

केचप जैसे डिप्पिंग सॉसेस में मसालों, चीनी और नमक की भारी मात्रा रहती है। इन मसालों में बहुत सी कैलोरीज़ और अनावश्यक अतिरिक्त फैट्स शामिल होते हैं। वे खाने के स्वाद को भी बदलते हैं, इन्हें बच्चों से दूर रखने से न केवल बच्चों को अन-हेल्थी भोजन से सुरक्षित रखा जाएगा बल्कि उन्हें भोजन के मूल स्वाद को पसंद करने और उनका आनंद लेने के लिए भी प्रोत्साहन मिलेगा।

 

6.फलों से बने स्नेक्स

स्रोत:  https://cdn.pixabay.com/photo/2018/06/19/23/25/sugar-3485430_960_720.jpg

फ्रूट जेली, फ्रूट रोल और अन्य फलों के स्नेक्स भी चीनी से भरे रहते हैं। हालांकि इनके निर्माता अब असली फलों के गुणों के साथ इन्हें बनाने का दावा कर रहे हैं, इनपर लगे लेबल पढ़ने पर आप पाएंगे की वास्तव में इनमें प्राकृतिक फल केवल 10 प्रतिशत मात्रा में ही मौजूद हैं। इनमें बाकी 90 प्रतिशत सिर्फ उबली हुयी चीनी की मात्रा रहती है।

सही प्रकार का भोजन स्वस्थ होने और रहने की नींव है और जितनी जल्दी इस आदत को जीवन में शामिल किया जाता है उतना बच्चों के स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है। तो ऊपर वर्णित खाद्य पदार्थों को अपने बच्चों की ज़िन्दगी से दूर निकालें और उनके स्वस्थ विकास के लिए सही भोजन का चुनाव करें।

Sonal Sardesai

COMMENTS (0)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *