Search

Home / Women Health Tips in Hindi / दिल को स्वस्थ रखने के लिए 5 असरदार व्यायाम

दिल को स्वस्थ रखने के लिए 5 असरदार व्यायाम

Ankita Kumari | अक्टूबर 31, 2018

दिल आपके शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है और शरीर के विभिन्न हिस्सों में रक्त पंप करने के लिए जिम्मेदार है। इसलिए दिल को स्वस्थ रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है। विशेषज्ञों का मानना है की दिल को स्वस्थ रखने के लिए सप्ताह में 4-5 बार आधे-आधे घंटे के लिए व्यायाम करना चाहिए। यदि अपने दैनिक कार्यक्रम में व्यस्त होने की वजह से आप व्यायाम के लिए 30 मिनट नहीं निकाल पाते हैं तो इसे 10 या 15 मिनट के 2 या 3 स्लॉट में विभाजित कर लें। नीचे कुछ व्यायाम बताए गए हैं जिनके अभ्यास से आपका दिल हमेशा स्वस्थ रहेगा:

 

ये भी पढ़े: Heart Patient Diet in Hindi: क्या खाने से स्वस्थ बना रहेगा आपका हृदय स्वस्थ?

 

1) योग

योग आपके दिल के स्वास्थ्य में सुधार लाने में मदद करता है, यह फेफड़ों की क्षमता और हृदय की गति को बढ़ाता है। साथ ही साथ यह शरीर में रक्त परिसंचरण को भी बढ़ाता है। दिल को स्वस्थ रखने के लिए निम्न आसनों को अपनाएं:

  • पादांगुष्ठासन: बिग टो (अंगूठा) पोज़
  • सुप्ता पादांगुष्ठासन: रेक्लाइलिंग बिग टो पोज़  
  • सेतु बंधा सर्वांगासन: ब्रिज पोज़

2) कार्डियो वर्कआउट्स

अगर आप अपने दैनिक कार्यक्रम में व्यस्त होने की वजह से व्यायाम के लिए ज्यादा वक़्त नहीं निकाल पाते हैं तो 4 मिनट का यह कार्डियो कसरत आपके लिए एक बेहतर विकल्प है। इसमें 20 सेकंड के जटिल वर्कआउट्स और 10 सेकंड के रिकवरी गैप्स शामिल हैं। 20 सेकंड के इस वर्कआउट में स्पॉट स्किप्पिंग, जॉगिंग, क्रॉस जैक, स्केटर्स और बरपीस शामिल हैं – इन सभी एक्सरसाइज को नीचे दिए गए वीडियो में विस्तारतपूर्वक समझाया गया है:

3) साइकिल चलाना

साइकिल चलाने से हृदय रोग के जोखिम को काफी हद तक कम किया जा सकता है। कुछ अध्ययन के निष्कर्षों से पता चला है कि सप्ताह में 32 किलोमीटर साइकिल चलाने से दिल की बीमारी विकसित करने की क्षमता को 50 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है। साइकलिंग हृदय की गति को बढ़ाती है, जो कार्डियोवैस्कुलर फिटनेस में सुधार लाने और कैलोरी घटाने में भी मदद करती है।

4) तैरना

तैरना एक ऐसा व्यायाम है जो आपके दिल और फेफड़ों की क्षमता में सुधार लाने में मदद करता है, साथ ही साथ इससे आपके जोड़ों पर ज्यादा प्रभाव भी नहीं पड़ता। लेन स्विम्मिंग ज्यादा असरदार साबित हो सकता है। तो अब दिल खोल कर तैरें!

5) वेट ट्रेनिंग-

मध्यम वजन के साथ ट्रेनिंग करना स्वस्थ दिल के लिए चमत्कार सिद्ध हो सकता है। यह एरोबिक्स या पैदल चलने से बचने का विकल्प नहीं हो सकता, लेकिन वेट ट्रेनिंग को अपने कार्डियो रूटीन में जोड़ना बहुत फायदेमंद होगा।

 

चित्र स्रोत: pixabay, youtube, pexels, public domain pictures, rr.sapo.pt

Ankita Kumari

COMMENTS (0)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *