Search

HOME / तीस की उम्र के बाद त्वचा की देखभाल के पाँच आवश्यक नियम

तीस की उम्र के बाद त्वचा की देखभाल के पाँच आवश्यक नियम

Kavita Uprety | जुलाई 5, 2018

BLOG TAGS

hindi Skincare

तीस की उम्र के बाद त्वचा की देखभाल के पाँच आवश्यक नियम

यह सच है कि, चमकदार और स्वस्थ त्वचा के लिए हर महिला लालायित रहती है। युवावस्था में त्वचा स्वाभाविक रूप से सुंदर और जीवंत होती है, लेकिन जैसे ही हम लगभग तीस वर्ष की आयु पार करते हैं, त्वचा की नियमित देखभाल आवश्यक हो जाती है ताकि इसकी कोमलता बनी रहे। स्वस्थ त्वचा न केवल अपनी लोच और चमक को बनाए रख पाती है बल्कि बढ़ती उम्र के प्रभावों को भी झेल पाती है और कमजोर त्वचा की तुलना में तेज़ी से ठीक हो जाती है। त्वचा का स्वास्थ्य हमारे जीवन के हर पहलू से प्रभावित होता है जैसे ही वातावरण, खानपान इत्यादि और इन सभी कारणों को ध्यान में रखते हुए त्वचा की पूरी देखभाल करना और अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है। आइए हम आपको बताएं कि स्वस्थ और कोमल त्वचा की नियमित देखभाल कैसे करनी चाहिए।

त्वचा की नियमित सफाई

चेहरे की सफाई का सीधा मतलब त्वचा से गंदगी, तेल और जमे मैल को हटाने की प्रक्रिया है। त्वचा पर जमी मृत कोशिकाओं के अलावा पूरे दिन, हमारी त्वचा प्रदूषण, धूल, बैक्टीरिया और मौसम से प्रभावित होती है। इन सभी अशुद्धियों को हटाने के लिए रोजाना सफाई आवश्यक है। हर दिन बिस्तर पर जाने से पहले चेहरे को सादे पानी, कच्चे दूध या गुलाबजल से साफ करें। इसके अलावा बाजार में कई क्लिंजिंग उत्पाद उपलब्ध हैं जिनका उपयोग भी किया जा सकता है।

त्वचा को नमी देना

 

चाहे जैसी भी त्वचा हो उसे आपको नियमित रूप से मॉइस्चराइज करना चाहिए। जैसे जैसे उम्र बढ़ती है, त्वचा की लोच कम हो जाती है और यह सूखने लगती है। पोषण देना इसलिए भी आवश्यक है क्योंकि यह त्वचा के चिकनेपन को बनाए रखने में मदद करता है। चूंकि त्वचा को कोमल रखने के लिए नमी की आवश्यकता होती है, इसलिए ये ज़रूरी है कि त्वचा के लिए उपयुक्त ऐसा लोशन चुनें जो उसे अधिकतम नमी दे और क्षति से बचाये। मौइश्चराइज़ करने का सबसे अच्छा तरीका है कि स्नान के तुरंत बाद लोशन लगा लें। यदि आपकी त्वचा सूखी है, तो दिन में कई बार उस पर एक ऑइल बेस्ड लोशन का उपयोग करें।

बालों में हेयर पैक लगाएँ

उम्र बढ़ने का असर आपके बालों के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है और नतीजा होता है रूखेसूखे बाल। हेयरपैक आपके बालों को एक गहरी कंडीशनिंग देता है, और जड़ों से लेकर सिरों तक बालों की देखभाल और पोषण के लिए तीस की उम्र के बाद पैक का नियमित उपयोग करना जरूरी है। हर बार बाल धोने के बाद हेयर पैक का इस्तेमाल करें और यदि यह संभव नहीं है, तो इसे अपने नियमित देखभाल रूटीन के तौर पर सप्ताह में कम से कम एक या दो बार जरूर लगाएँ।

चेहरे पर फेस पैक लगाएँ

फेस पैक त्वचा का ख्याल रखने का सबसे बढ़िया तरीका है क्योंकि यह रंगत निखारने और चमक देने में कारगर है। उम्र के साथ, त्वचा की कसावट और चमक बनाए रखने के लिए नियमित रूप से फेस पैक का उपयोग करना चाहिए। इसके लिए हर बार पार्लर पर जाना जरूरी नहीं क्यूंकि आप आसानी से शहद, अंडे, चने का आटा, गुलाबजल, बादाम के तेल इत्यादि प्राकृतिक घरेलू सामग्रियों का उपयोग कर घर पर ही फेस पैक तैयार कर सकती हैं। स्वस्थ, जीवंत,आकर्षक और युवा दिखने वाली त्वचा प्राप्त करने के लिए सप्ताह में एक बार फेस पैक ज़रूर लगाएँ।

बालों और शरीर की मालिश

नियमित मालिश शरीर के लिए एक वरदान है जो केवल बालों, चेहरे या पूरे शरीर को दी जाती है। मालिश शरीर की अकड़न, दर्द और सूजन को कम करने में बहुत मददगार है क्योंकि यह मांसपेशियों को आराम देती है जबकि सिर की मालिश न केवल आपके बालों को पोषण देती है बल्कि सिरदर्द और माइग्रेन में भी राहत देती है। यदि आप अत्यधिक व्यस्त रहती हैं, तो भी आपको नियमित मालिश करवाने के लिए कुछ समय अवश्य निकालना चाहिये।

चित्र स्त्रोत: www.HarleyStreetEmporium.com, www.flickr.com, www.thegloss.com, www.pexels.com, www.pxhere.com , www.rainlillie.com