क्या इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्शन 100 % प्रभावी हैं ?

Spread the love

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्शन पिल असुरक्षित सेक्स के बाद अनचाहे गर्भ से बचने के उद्देश्य से ली जाती है। यह बर्थ कण्ट्रोल पिल का एक प्रकार है। इसे आमतौर पर “मॉर्निंग-आफ्टर पिल” भी कहा जाता है। दो प्रकार की पिल्स होती हैं, कॉपर इंट्रायूटराइन डिवाइस- IUD और इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल। हालांकि मॉर्निंग-आफ्टर पिल को लेकर कई अटकल हैं, आगे पढ़ें की ये अपने उद्देश्य में कितनी सफल होती है-

ज़्यादातर अनुसंधानों और डॉक्टरों की यही राय है की इमरजेंसी पिल्स बिलकुल सुरक्षित है। ऐसी कोई भी खास केस सामने नहीं आई जिसमें इन पिल्स को लेने की वजह से शरीर और स्वास्थ्य को हानी पहुंची हों। लेकिन अनचाहे गर्भ को रोकने के कई और भी पर्याय हैं जैसे की बर्थ कण्ट्रोल पिल्स और अन्य तरीकें जो की इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्शन पिल्स से ज़्यादा असरदार साबित होंगे।

अगर आप सोच रहे हैं की ये इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्शन पिल्स वास्तव में  कितनी सुरक्षित हैं तो इन्हें कब और कैसे इस्तेमाल करना चाहिए , इसके बारें में आगे पढ़ें।

EC के चयन के पीछे कई ऐसे तथ्य हैं जिनके बारें में विचार करना ज़रूरी हैं, ये हैं –

  • आपका कद और वज़न
  • जिस प्रकार की EC आपके लिए सुलभ है
  • जिस समय पर असुरक्षित सेक्स हुआ है
  • अगर आप स्तनपान करा रहीं हैं
  • अगर आप पहले से गर्भ धारण कर चुकीं है
  • 2  या 2  से ज़्यादा मॉर्निंग-आफ्टर पिल्स लेने से कई बीमारियां हों सकती हैं, इस लिए अगर आप इनको ले रहे हैं, तो सिर्फ 1 ही गोली काफी है।
  • एक ही किस्म की EC खाने के बाद कुछ घंटे तक उस किस्म की एक और गोली न खाएं, इनकी मात्रा बढ़ाने से आप प्रेग्नेंट होने से बच नहीं सकतीं ।
  • मोटे लोगों के लिए ECP – हर किस्म की कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स योग्य रहती है और इनको लेने से मोटी और भारी वज़न वाली महिलाओं पर कोई हानिकारक प्रभाव नहीं पड़ता और वे भी इसे बेझिझक इस्तेमाल कर सकतीं हैं ।
  • कार्डीयो से  जुडी समस्याएं – कुछ डॉक्टर ECP इस्तेमाल करने का सुझाव नहीं देते क्योंकि कभी-कभी इन्हें लेने से कार्डियो-वैस्कुलर बीमारियां, स्ट्रोक और ब्लड क्लॉट्स होने की संभावना रहती है, लेकिन ECP की एक डोसेज आपको कोई नुकसान नहीं देगी। परन्तु इन्हें लेने से पहले डॉक्टर की राय लेना बेहतर है।
  • गर्भवती महिलाओं को किसी भी किस्म की ECP नहीं लेनी चाहिए क्योंकि इन्हें लेने से श्रोणि में यूटराईन इन्फेक्शन, सर्वाइकल कैंसर और अन्य सूजन पैदा करने वाली बीमारयां हो सकती हैं ।
  • कुछ परिस्थितियों में, डॉक्टर से परामर्श कर कर निर्धारित मात्रा में बर्थ कण्ट्रोल पिल्स का सेवन एमेर्जेंसी कॉन्ट्रसेप्टिव पिल्स की तरह किया जा सकता है।

अंत में यह कहना सही होगा की इमरजेंसी पिल्स आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं और ये बिलकुल सुरक्षित हैं और इनके नियमित इस्तेमाल की वजह से कोई भी जटिल मेडिकल समस्या का केस सामने नहीं आया है। लेकिन ये पिल्स बाकी बर्थ कण्ट्रोल के माध्यम जैसी की IUD , इम्प्लांट और कंडोम्स  की तरह प्रभावी नहीं होतीं।

 

चित्र स्त्रोत : Wikipedia commons, pixapay

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *