Search

Home / Weight Loss Tips in Hindi / मोटापे से निजात पाने के घरेलु उपचार [Updated]

मोटापे से निजात पाने के घरेलु उपचार [Updated]

Ankita Kumari | जुलाई 20, 2021

मोटापा विश्व की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है। मोटापा लोगों के लिए बीमारियों का ख़तरा तो पैदा करता ही है, साथ ही मोटापा ग्रस्त लोगों की उत्पादकता और आत्मविश्वास में भी कमी आती है। मोटापा होने पर लोग सामाजिक कार्यों में भाग लेने में संकोच करते हैं। हालाँकि मोटापे से बचना उतना मुश्किल नहीं है जितना कि हम सोचते हैं। इसलिए इस आर्टिकल में हम आपके लिए लेकर आए हैं मोटापे से बचने के वो घरेलू उपाय जो राहत दिलाएँगे आपको अतिरिक्त चर्बी से और बनाएँगे आपको फुर्तीला। आइए जानते हैं विस्तार से।

मोटापे से बचने के घरेलू उपाय

Belly Fat Body Edited

उपयोग से अधिक कैलोरी का उपभोग करने से अतिरिक्त कैलोरी शरीर में जमा हो जाती है। ये संग्रहीत कैलोरी वसा के रूप में होती है और इस स्थिति को मोटापे के रूप में जाना जाता है। मोटापे की वजह से उच्च रक्तचाप, मधुमेह, थायराइड, गठिया, गुर्दे की समस्याएं, यकृत की समस्याएं, हृदय की समस्याएं और कई अन्य बीमारियों के होने की सम्भावना बढ़ जाती है। सामाजिक, व्यवहारिक, हार्मोनल, पर्यावरण और सांस्कृतिक समेत कई कारक मोटापे का कारण बन सकते हैं। मोटापे के लक्षणों में सुस्त महसूस करना, जल्दी थकना और अत्यधिक पसीना होना आदि शामिल हैं। मोटापे से निजात पाना बेहद ही आवश्यक है। यहां कुछ घरेलू उपचार दिए गए हैं जिनके सेवन से मोटापे को रोका जा सकता है-

1. गरम पानी

गर्म पानी में शहद और 2 चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीना मोटापे से निजात पाने के लिए चमत्कारी सिद्ध हो सकता है। इसका सेवन पूरे दिन किया जा सकता है। यह विटामिन बी, विटामिन सी, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस और कैल्शियम में समृद्ध है। यह यकृत को साफ़ करता है, जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाने में मदद करता है और अंततः वजन घटाने की ओर आपको ले जाता है।

2. एलोवेरा

सुबह के वक़्त 50 मिलीलीटर एलोवेरा के रस को 200 मिलीलीटर पानी में मिलाकर पीने से वजन घटने में सहायता मिलती है। एलोवेरा गुणों से भरपूर होता है जिसमें विभिन्न पोषक तत्व और औषधीय गुण पाए जाते हैं।इसमें मौजूद पानी वजन को कम करने में मदद करता है। एलोवेरा का जूस बनाने की विधि आप यहाँ से देख सकते हैं। 

3. उत्तरायणी खीर

5-10 ग्राम उत्तरायणी के बीज में पानी डालकर उबालें। इसमें अपनी इच्छा के अनुसार रॉक कैंडी या गुड़ और दूध मिलाएं और उबालें। 5 मिनट के लिए पकाएं और नियमित रूप से इसका सेवन करें। उपयोग से पहले बीज को अच्छी तरह साफ करना ना भूलें। उत्तरायणी के बीज पेट की वसा को कम करने के लिए जाने जाते हैं। यह बहुत ही लाभदायक है और आयुर्वेद में इसका एक महत्वपूर्ण स्थान है।

4. बेल और गुग्गुल

24 ग्राम बेल के गुदे में 4-5 गुग्गुल के बीज को मिलाकर मिश्रण तैयार करें। इस मिश्रण को दिन में दो बार लें (सुबह और रात में)। इसे सात दिनों तक रोजाना लें और फिर सप्ताह में एक बार लें। यह पेट के वसा को कम करने में मदद करता है। बेल की तासीर शीतल होती है जो शरीर को ठंडक पहुँचाने का काम भी करती है। 

5. मेथी बीज

एक चम्मच मेथी के बीज को रात भर के लिए भिगो दें। सुबह खाली पेट मेथी के बीज को चबाएं और निगल जाएं। इसके बाद पानी पी लें। मेथी में शरीर में जमा अतिरिक्त वसा का नाश करने की क्षमता होती है। मेथी पाचन की दृष्टि से भी हमारे शरीर के लिए अत्यंत गुणकारी मानी जाती है। 

6. गाजर और आँवला

तीन महीने तक नाश्ते में गाजर काट कर खाएं। इसके बाद, गाजर के प्रभावों को संतुलित करने के लिए, अगले तीन महीनों तक गाजर के जगह आँवला खाएं। फिर अगले तीन महीने गाजर के साथ दोहराएं और फिर आँवले को दोहराएं। आप एक वर्ष में अपने वजन को घटता हुआ महसूस करेंगे। ये दोनों ही खाद्य पदार्थ पर्याप्त एंटीओक्सिडेंट्स और फ़ाइबर से परिपूर्ण होते हैं और वज़न घटाने में सहायता करते हैं। 

7. त्रिफला

500 मिलीलीटर पानी में 2 बड़े चम्मच त्रिफला पाउडर डालें और पानी के आधा होने तक उबाल लें। अब इसे छानकर ठंडा करने के लिए छोड़ दें। ठंडा होने पर इसके स्वाद को अच्छा करने के लिए शहद मिलाएं। रोजाना नाश्ते के बाद और रात के खाने के बाद इसका सेवन करें। त्रिफला विटामिन सी और कैल्शियम को बढ़ाता है, जो मोटापे से ग्रस्त लोगों की कमी होती है। त्रिफला उन लोगों के लिए भी बेहतरीन विकल्प है जिन्हें पाचन तंत्र की समस्या रहती है। 

8. पुदीना

अपने दैनिक आहार में पुदीने को शामिल करें। पुदीने की चटनी और रायता खाएं। इसका इस्तेमाल आप चाय में भी कर सकते हैं। यह पोषक तत्वों के बेहतर अवशोषण की सुविधा प्रदान करता है जो चयापचय की दर में वृद्धि करते हैं और वजन घटाने में सहायक होते हैं। पुदीना गर्मियों में इस्तेमाल किए जाने के लिए बेहतरीन है क्योंकि इसकी तासीर शीतल होती है और यह शरीर में पाचन रसों का प्रवाह भी बढ़ाता है। 

नियमित व्यायाम के साथ इन सरल घरेलू उपचारों का पालन करने से मोटापे को आसानी और प्रभावी तरीके से कम किया जा सकता है। कैसा लगा आपको यह आर्टिकल, हमें बताइए, साथ ही इसे शेयर कीजिए अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ। ऐसी ही अनमोल जानकारी और नई-नई रेसिपीज़ के लिए जुड़े रहिए BetterButter के साथ। 

Ankita Kumari

COMMENTS (0)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *