क्या नॉन-स्टिक बर्तन में खाना बनाना स्वास्थ्य के लिए ठीक है ?

Spread the love

अगर आपको कुकिंग का शौक है तो नॉनस्टिक बर्तनों में खाना बनाना आपको पसंद होगा | और आजकल तो इनका प्रयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है | हम सब जानते हैं क्यों ? इसको साफ़ करना बहुत आसान हैं जिसका सारा श्रेय इसकी स्पेशल कोटिंग को जाता है जो खाने को सतह से चिपकने नहीं देता | कम तेल में खाना बना पाना इसकी एक और खूबी है |

पर क्या ये आपके स्वास्थ्य पर कोई बुरा असर तो नहीं डाल रहें ?आइये जानें  

1. ज़हरीला धुआं फैलते हैं नॉनस्टिक बर्तन

1.harmful fumes.nonstick

ज्यादातर नॉनस्टिक बर्तन पर पॉलीटेट्राफ्लुओरोएथिलेन की कोटिंग होती है जिसे टेफ़लोन कहते हैं | ऐसा माना गया कि खाना बनाते समय नॉनस्टिक बर्तनों में से जहरीली दुर्गन्ध निकलती हैं जो हमारे स्वास्थ्य पर धीरे-धीरे बहुत बुरा प्रभाव डाल रही है | ऐसी दुर्गन्ध से घर में फ्लू फ़ैल सकता है और पक्षियों के लिए तो ये जानलेवा है तो सोचे इंसानो पर इसका क्या असर होता होगा? इसका तो ये मतलब हुआ कि किचन में आपका सबसे अच्छा दोस्त ही आपका दुश्मन बन रहा हैं |

 

2. कई बीमारियों का घर हो सकते है नॉन स्टिक बर्तन

नॉनस्टिक बर्तनों का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करने से इसकी ऊपर सतह खुरच जाती है और जाने अनजाने कई बार ये हमारे भोजन में अपना रास्ता बना लेती है,| जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है | इससे निकलने वाले धुँए से कैंसर की आशंका बढ़ती है | गर्भवती महिलाओं को तो इसका प्रयोग बिलकुल नहीं करना चाहिए | महिलाओं में थायरॉइड का स्तर बढ़ने की भी संभावना हो सकती है |

 

3. निम्न सावधानियाँ बरतें

अगर आप फिर भी नॉन स्टिक बर्तनों में खाना पकाने के आदि हैं तो आप कुछ बातों को ध्यान में रख कर होने वाले खतरे को कम कर सकते हैं|

  • खाली नॉन स्टिक बर्तन को कभी भी चलती हुई गैस पर ना रखें | क्योंकि खाली नॉनस्टिक बर्तन तेजी से गर्म हो जाता हैं और हानिकारक पॉलीमर धुँए को जन्म देता हैं |
  • खाना पकाते समय एग्जॉस्ट फैन चलना ना भूले और घर की खिड़कियाँ खोल दें ताकि धुआँ बाहर निकल सकें |
  • अगर किसी बर्तन की कोटिंग निकल गयी हैं तो उसे घर से भी बाहर निकाल दें |
  • नॉन स्टिक बर्तन के साथ लकड़ी, सिलिकॉन या प्लास्टिक की करछी या चम्मच का प्रयोग करें |

 

नॉन-स्टिक के अलावा क्या हैं टेफ़लोन-मुक्त विकल्प

1. स्टेनलेस स्टील -स्टेनलेस स्टील खाना बनाने के लिए एक अच्छा विकल्प हैं | ये ज्यादा टिकाऊ और इसमें खरोच पड़ने का  डर भी कम होता हैं |

2. कास्ट-आयरन कुकवेयर

अगर  इसका ठीक से इस्तेमाल किया जाए तो कास्ट-आयरन प्राकर्तिक रूप से नॉन-स्टिक हैं | और इसमें नॉन-स्टिक के मुकाबले तेज आंच पर भी खाना बनाया जा सकता हैं |

3. मिट्टी से बने बर्तन

इन बर्तनों का प्रयोग हज़ारो सालों से किया जा रहा हैं | ये सब जगह से एक जैसा गर्म होता हैं और नॉन-स्टिक की तरह ही काम करता हैं | तेज आंच और खरोचों का इसे कोई डर नहीं |

4. चीनी मिट्टी (सिरेमिक) से बने बर्तन

ये बर्तन औरो के मुकाबले नए आविष्कार हैं | ये अपनी नॉन स्टिक गुणों के लिए जाने जाते हैं लेकिन जल्दी ख़राब हो सकते हैं |

5. सिलिकॉन से बने बर्तन

सिलिकॉन एक सिंथेटिक रबड़ होता हैं जो बेकिंग के ज्यादा काम आता हैं | इसे आंच से दूर रखा जाता हैं इसीलिए  ये बेकिंग के लिए ही बेस्ट हैं|

चित्र स्त्रोत -wikihow,slideshare,allrecipe

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *