रेखाजी की स्टाइल एवोलुशन!

Spread the love

रेखाजी, जिनके माता-पिता तमिल थे, बहुत ही छोटी उम्र में फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा बन गयी थी। अपनी हर फिल्म के साथ, रेखाजी ने धीरे-धीरे फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बनायीं और आज वह बॉलीवुड की एक जीती-जागती लीजेंड बन चुकी हैं। अपने 40 साल से भी ज़्यादा लम्बे फिल्मी करियर में, रेखाजी का अभिनय और स्टाइल, और भी ज़्यादा बेहतर हो गया है।

बेटर बटर, आपके लिए एक झलक लाये हैं रेखाजी के इस एवोलुशन का। जानिए कैसे एक चब्बी सी लड़की, भानुरेखा गणेसन, बनी आज के दौर की सबसे प्रोत्साहित डीवा-रेखा।

 

70s

13 साल की रेखा ने अपना डेब्यू, सुपरहिट फिल्म ‘सावन भादों’ के साथ किया था। इस टाइम पे, युवा रेखा को खाना खाना और मस्ती करने का बहुत शौक था। उनके दिमाग में फिटनेस के लिए कोई जगह ही नहीं थी। कहा जाता है की मिड 70s में, रेखाजी के स्टाइल में परिवर्तन होना शुरू हुआ था।

लोग कहते हैं की जब रेखा की मुलाकात अमिताभ बच्चन से हुई थी, तब उन्होंने अपने ऊपर ध्यान देना शुरू किया था। जिन जिन फिल्मों में उन्होंने अमितजी के साथ काम किया था, जैसे की ‘मुक़द्दर का सिकंदर’ और ‘मिस्टर नटवर लाल’, उनमें रेखाजी ने अपने ऊपर ख़ास ध्यान दिया था। रेखाजी का यह ख़ास प्रयास ऑन-स्क्रीन और ऑफ-स्क्रीन, दोनों जगह देखा गया था ।

 

80s

80s में रेखाजी अपने आज की रूप में आई थी। एक चब्बी टीनएजर (teenager), जिसे एयलिनेर (eyeliner) और लिपस्टिक के बारे में कुछ नहीं पता था, से रेखाजी बॉलीवुड की ग्लैमरस (glamorous) डीवा बन चुकी थी। बाकी अभिनेत्रियाँ अपने वेस्टर्न कपड़ों से लोगों का दिल जीत रही थी, लेकिन रेखाजी का भारतीय अंदाज़ हमेशा अलग ही नज़र आता था।

इसी समय रेखाजी अपनी  ट्रेडमार्क कांजीवरम साड़ियां, लाल बिंदी और लाल लिपस्टिक में नज़र आने लगी। उनके महिला फ़ांस, उनकी यह लुक कॉपी करने में मग्न हो गए थे। अलग-अलग प्रकार की फिल्म्स जैसे की ‘उमराव जान,’ ‘सिलसिला’ और ‘खूबसूरत’ करने के बाद, रेखाजी फिल्म इंडस्ट्री में अपनी एक अलग जगह बनाने में सफल रही।

अपने वेस्टर्न और इंडियन लुक्स के साथ, रेखाजी उस समय भी हमे दंग कर देती थी।

इसी समय, रेखाजी ने अपनी फिटनेस पर ध्यान देना शुरू करा था। वह पहली अभिनेत्री थी जिसने अपनी खुद की फिटनेस वीडियो ‘माइंड, बॉडी एंड टेम्पल’ (mind, body and temple) बनायी थी।

 

90s

कुछ ही देर में, रेखाजी का नाम स्टाइल और फैशन की दुनिया में बहुत प्रचलित होना शुरू हो गया। अभिनेता मिठुन चक्रबोर्ती ने रेखाजी के बारे में कहा था की रेखाजी का चेहरा एक ऐसा चेहरा है जिसको देखते-देखते, लोग कभी भी नहीं थकेंगे। चाहे वो पंख हो, बालों में शेल्स हो, लम्बे बूट्स हो या फिर चौंका देने वाले हेड गियर हो-रेखाजी ने सब कुछ किया है!

 

आज

आजकल रेखाजी फिल्मों में ज़्यादा नज़र नहीं आती लेकिन अपने स्टाइल और फैशन की वजह से वह हमेशा सुर्खियों में रहती हैं। रेखाजी अब बुज़ुर्ग औरतों की किरदार में नज़र आती हैं, लेकिन ‘परिणीता’ फिल्म का गाना ‘कैसी पहेली है यह ज़िंदगानी’ में उन्होंने हमे एक बार फिर से दंग कर दिया था! इस गाने ने हमे यह याद दिलाया की रेखाजी हमेशा ग्रेस और पोइसे (poise) की देवी रहेंगी।

रेखाजी के स्टाइल एवोलुशन ने हमें यह याद दिलाया है की बदलाव ही ज़िन्दगी का नियम है। आज भी रेखाजी अपनी सुंदरता, चार्म और एलेगन्स (elegance) के साथ सबके दिलों की धड़कने तेज़ कर देती हैं। इसी कारण रेखाजी आज एक एजलेस और प्रोत्साहित जीवित दिग्ग्ज हैं।

सूत्र:  Deccan Chronicle, Fresh box office, iDiva, India TV, Indiatimes, Masala, Muskurahat, Pinterest, Rediff.com,  Rekha.xyz, Starnabe, Twitter, YouTube, Zee News, 4u wallpaper.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *