बाज़ार में उपलब्ध सर्वश्रेष्ठ हर्बल शैम्पू

Spread the love

शैम्पू, बालों की देखभाल के लिए सबसे ज़रूरी व्यक्तिगत इस्तेमाल का प्रोडक्ट है। शैम्पू न केवल बालों को प्रदूषण के हानिकारक प्रभाव से बचते हैं बल्कि इनका पोषण भी करते हैं। परन्तु आजकल शैम्पू में मौजूद सामग्री ही बालों के लिए हानिकारक साबित हो जाती है।

मार्किट में मौजूद ज़्यादातर शैम्पू में सलफेट और पैराबेन मौजूद होते हैं जो बालों को दूषित करते हैं। ऐसा समय आपकी ज़िन्दगी में भी ज़रूर आया होगा जब आपने हानिकारक केमिकल्स की वजह से बालों से जुड़ी समस्याओं का सामना किया होगा।

परेशान मत हो, आज की तारिख में बाज़ार में कई सारे पर्सनल केयर ब्रांड्स मौजूद हैं जो आयुर्वेदिक और हर्बल शैम्पू बेचते हैं जिनके कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते। पेश है कुछ प्रसिद्द नेचुरल शैम्पू जो बाज़ार में उपलब्ध हैं-

 

1) खादी शिकाकाई हर्बल शैम्पू

प्राकृतिक रूप से त्वचा की देखभाल के प्रोडक्ट्स के निर्माताओं में से खादी एक प्रमुख नाम है। खादी के शिकाकाई हर्बल शैम्पू में शिकाकाई होती है। इस जड़ी बूटी में भरपूर एंटी ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो बालों की ग्रोथ को बढ़ावा देते हैं, इसका उल्लेख प्राचीन वेदों में भी किया गया है। इस शैम्पू में उत्तम PH बैलेंस होता है जिससे बाल घुंघराले और रूखे नहीं होते। इस शैम्पू के नियमित उपयोग से बालों में रूसी कम हो जाती है।

 

2) बायोटीक बायो ग्रीन एप्पल फ्रेश डेली पूरिफायिंग शैम्पू एंड कंडीशनर

बायोटीक एक और जाना माना आयुर्वेदिक ब्रांड है जो कई तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट्स का निर्माता है और इनमें से एक प्रोडक्ट बायो ग्रीन एप्पल शैम्पू है। इस शैम्पू में सेब के अर्क के अलावा सी एलगी भी मौजूद हैं जो खोपड़ी से जड़ों तक बालों का पोषण करते हैं। ग्रीन एप्पल अत्यधिक तेल गठन को नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है। इस प्रोडक्ट की खास बात यह है की यह शैम्पू कंडीशनर मिश्रण के साथ आता है और आपको अलग से कंडीशनर खरीदकर इस्तेमाल करने की ज़रुरत नहीं पड़ेगी। यह शैम्पू आर्गेनिक पदार्थों से बना है और इसमें कोई सरंक्षक पदार्थ मौजूद नहीं होते।

 

3) त्रिचुप हेयर फॉल कंट्रोल

यह शैम्पू “जीवनभर के लिए स्वस्थ बालों” का वादा करता है क्योंकि इसमें आमला, भृंगराज, जापा और शिकाकाई जैसी जड़ीबूटियां मौजूद हैं जो सभी तरह के बालों के लिए उपयुक्त है। यह शैम्पू खोपड़ी की मैल को साफ करता है और बालों का पोषण करता है और इन्हें घना और स्वस्थ बनाता है।

 

4) सोल ट्री लिकोराइस हेयर रिपेयर शैम्पू

सोल ट्री वाला निर्मित आयुर्वेदिक पर्सनल केयर प्रोडक्ट्स को BDIH, जर्मनी ने प्राकृतिक प्रमाणित किया है और इनमें सलफेट, पैराबेन, लेड या कृत्रिम सुगंध नहीं होती। इस शैम्पू में मौजूद जड़ी बूटियों के प्रभाव बालों को समय से पहले सफ़ेद होने से रोकते हैं। उपभोक्ताओं के मुताबिक इस शैम्पू का नकारात्मक लक्षण यही है की यह ज़्यादा झागदार नहीं है।

 

5) कामा आयुर्वेदा हिमालयन देओदार हेयर क्लेन्ज़र

कामा आयुर्वेदा हिमालयन देओदार हेयर क्लेन्ज़र से शैम्पू करने से खोपड़ी साफ़ हो जाती है और यह  कमज़ोर बालों को मज़बूत बनाता है जिससे बालों का झड़ना कम हो जाता है। हालांकि इस शैम्पू को लगाने से ज़्यादा झाग नहीं बनता लेकिन इसके इस्तेमाल से बाल बहुत चमकदार और रेशमी हो जाते हैं। इसमें आर्गेनिक एलो वेरा जूस, हिबीस्क्स के अर्क और हिमालयन देओदार के शुद्ध आवश्यक तेल मौजूद हैं जिनकी वजह से बाल घने, पोषण से भरपूर और पुनः सशक्त हो जाते हैं जिससे हेयर ग्रोथ भी बढ़ जाती है।

 

6) पतंजलि केश कांति एलो वेरा शैम्पू

पतंजलि केश कांति एलो वेरा शैम्पू में एलो वेरा के साथ 13 अलग-अलग जड़ी बूटियां मौजूद हैं जैसे की तुलसी, हिबीस्क्स,आमला, हीना, भृंगराज, हल्दी, शिकाकाई आदि। इस शैम्पू में नीम्बू और एलो वेरा के मौजूद रहने के कारण एक गज़ब की महक है, यह बहुत झागदार है और बाजार में उपलब्ध हेयर केयर प्रोडक्ट्स के निर्माताओं में यह जाना माना और लोकप्रिय ब्रांड है। कुछ लोगों को इसे इस्तेमाल करने के बाद भी कंडीशनर लगाने की आवश्यकता महसूस हो सकती है।

 

चित्र स्त्रोत : इंडियामार्ट, नेटमेड्स वासुस्टोर, सोल ट्री, पिनटेरेस्ट, स्वदेशी ओरगनिक     

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *