दीपावली पूजा करने का सही तरीका और विधि-विधान

Spread the love

कहते हैं जो परिवार एक साथ पूजा-पाठ करता है वो हमेशा एक साथ प्यार और सद्भावना से रहता है और दीपावली में पूजा का एक एहम स्थान है | दीपावली के दिन हर घर रौशनी से इस कदर जगमगा जाता है कि हम सब ये भी भूल जाते हैं कि वो अमावस्या (कृष्ण पक्ष) की रात होती है | हर परिवार लक्ष्मी-गणेश पूजा करता है ताकि उनके घर में सुख, समृद्धि और शान्ति बरकरार रहे | तो क्या है दीपावली पूजा करने का सही तरीका और विधि-विधान |

 

दीपावली पूजा की तैयारियां

सही मायनो में दिवाली पूजा की तैयारियां सुबह से ही शुरू हो जाती हैं जैसे घर की साफ़-सफाई, फूलों की सजावट और व्रत रखना | अगर आपका स्वास्थ्य साथ दें तो पूरे दिन का व्रत रखा जाता है जिसे पूजा के बाद ही तोड़ा जाता है |

 

दीपावली पूजा सामाग्री

वैसे तो दीपावली पूजने के तौर-तरीके सभी परिवारों और क्षेत्रों के अलग-अलग होते हैं लेकिन नीचे दी गयी सूची कुछ बुनयादी चीज़ो की हैं –

  • कलश
  • आम पत्ता
  • सुपारी
  • चावल
  • माँ लक्ष्मी की मूर्ती या फोटो
  • दूध या दही
  • शहद
  • घी
  • फुल्ले
  • मिठाई
  • धनिया के बीज
  • जीरा

 

दीपावली पूजा का शुभ मुहूर्त

दीपावली पूजा शाम को 6 से 8 बजे के बीच में की जाती है | 2 घंटे 24 मिनट के इस अंतराल को प्रदोष काल भी कहा जाता है |

 

दीपावली लक्ष्मी-गणेश पूजा विधि

तरीका अलग हो सकता है लेकिन भावनाएं और सोच साजी होती है | पूजा करने के आपको कौन से तौर-तरीके अपनाने हैं वो आप पर निर्भर करता है | आप नीचे दी गयी सामान्य विधि को अपना सकते हैं –

  • सबसे पहले एक साफ़ और रंगीन कपड़े को वहां बिछा दें जहां आप पूजा करने वाले हैं और चावलों की चादर जैसी बनाकर उस पर कलश रख दें |
  • कलश में पानी डालें और सुपारी, फूल, सिक्का रखें | अब कुछ चावल के दाने अंदर भी डालें | अब आम के पत्तों से कलश के बाहरी हिस्से को सजाएं | कलश पर एक थाली अवश्य रखें क्योंकि यही वो जगह है जहाँ लक्ष्मी माता विराजमान होंगी |
  • आप थाली को कमल के फूल, हल्दी और सिक्कों से सजा सकते हैं |
  • भगवान गणेश कलश के दाहिने ओर बैठते हैं |
  • अब सभी पूजा सामग्रियों पर गंगा जल छिड़कें | ध्यान रहे पूरे घर में कही भी अन्धेरा ना हो और साफ़-सफाई का ख़ासा ख़्याल रखें |
  • अब आप माँ लक्ष्मी को आमंत्रित करने के लिए मंत्र पढ़ें | ये सभी मंत्र आपकी पूजा किताब और इंटरनेट पर भी आसानी से मिल जाएंगे |
  • फूल, चावल, मिठाई, गेंदे की मालाएं, नारियल, फल, कुमकुम, चन्दन, दियों और अगरबत्तियों से सभी भगवानों को पूजें |
  • और अंत में दीपावली की आरती कर अपने परिवारजनो में मिठाई बांटे |
  • दीपावली के दिन भगवान कुबेर की भी पूजा की जाती है जिन्हे धन का खजांची भी माना जाता है | कुबेर पूजा के लिए आपको अपने लॉकर की पूजा करनी होती है जहां घर में आप अपने पैसे और सोना रखते हैं |

चित्र स्त्रोत: Yugpradesh.com,Vedicvaani, housejoy, flickr, pixabay.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *