5 सबसे लोकप्रिय पाकिस्तानी ड्रामा सीरियल

Spread the love

चाहे हम जितना भी इस बात से इंकार करें या हम पर पाकिस्तानी चैनल ज़िन्दगी देखने पर पाबन्दी लगायी जाये लेकिन इस बात में कोई शक नहीं की हिन्दुस्तानियों को पाकिस्तानी ड्रामे बेहद पसंद हैं। पाकिस्तानी ड्रामे हिंदी सीरियल से छोटे होते हैं और उनमे एक सन्देश ज़रूर होता है। आपको ये जानकार आशचर्य होगा की ये पाकिस्तानी ड्रामे न केवल भारतवर्ष में बल्कि अमरीका, इंग्लैंड, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में भी बहुत लोकप्रिय हैं।

पेश हैं 5 सबसे चहीते पाकिस्तानी ड्रामे जिन्हे आपको ज़रूर देखना चाहिए –

 

1.धुप किनारे

यह शायद अब तक का सबसे ज़्यादा पसंद किये जानेवाला पाकिस्तानी ड्रामा है जिसकी निर्देशक साहिरा काज़मी हैं। ये 1987 में रिलीज़ किया गया था और इसके केवल 17 एपिसोड थे।

जिन लोगों ने भी इसे एक बार देखा है वो इसे बार-बार देखने का एक भी मौका नहीं गवांते। इसमें रोमांस, ड्रामा, हास्य और भाव का सही तालमेल है जो आपको आगे देखने पर मजबूर कर देता है।

इस ड्रामे के आने के बाद राहत काज़मी (डॉ अहमर अंसारी) और मरीना खान (ज़ोया) का नाम सबकी ज़ुबान पर था। इसे सिर्फ हिंदुस्तान में पसंद ही नहीं किया गया बल्कि एक हिंदी सीरियल – कुछ तोह लोग कहेंगे भी बनाया गया जो इसपर आधारित था।

धुप किनारे देखने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

 

2.तन्हाईयाँ

ये दो बहेनो की कहानी है शहनाज़ शेख (ज़ारा) और मरीना खान (सान्या) जिनके माता पिता का एक हादसे में देहांत हो जाता है और वे कर्ज़े में होने के कारण अपना घर खो देती हैं।

1985 में रिलीज़ हुआ ये ड्रामा सैकड़ों बार पाकिस्तानी चैनलों पर दिखाया गया क्यूंकि ये दर्शकों को इतना पसंद आया था। इस ड्रामे में ज़ारा बहुत ही गंभीर पात्र है और सान्या एक मज़ाकिया और आरामपसंद पात्र है जो बहुत संवेदनशील है।

तन्हाईयाँ देखने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

 

3.अनकही

1982 का यह उर्दू ड्रामा भी एक बहुत ही अच्छी पात्रवर्ग से भरा था और इसकी निर्देशक हसीना मोईन अपने दर्शकों को बहुत ही खूसूरति से अपनी सरस कहानी में व्यस्त कर लेती हैं।

इस ड्रामे में शेहनाज़ शेख ने मुख्या भूमिका निभाई है और उनका पात्र सना मुराद एक बहुत ही झल्ला, और गैर ज़िम्मेदार पात्र है जो धीरे धीरे समझदार बनती है और ज़िन्दगी से बहुत कुछ सीखती है।

अनकही देखने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

 

4.हमसफ़र

हमसफ़र 2011 में रिलीज़ हुआ एक पाकिस्तानी ड्रामा है जिसमे 23 एपिसोड थे।

इसमें फवाद खान और माहिरा खान मुख्या भूमिकाओं में नज़र आये। हमसफ़र एक ऐसी कहानी है जिसमे दो लोगों की जबरन शादी करा दी जाती है और वे धीरे धीरे एक दुसरे को समझते हुए एक दुसरे से प्यार करने लगते हैं।

इसमें रिश्तों के उतर-चढ़ाव, प्यार, इर्षा, भरोसा और दोस्ती जैसी भावनाओं को बखूबी दर्शाया गया है।

हमसफ़र देखने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

 

5.ज़िन्दगी गुलज़ार है

2012 का ये ड्रामा एक कॉलेज रोमांस पर आधारित है जिसमे फवाद खान और सनम सईद ने मुख्या भूमिकाएं निभाई हैं।

ये ड्रामा दिखता है की दो लोग जो बिलकुल विपरीत विचाधाराएँ रखते हैं, कैसे एक दुसरे के प्यार में पड़ जाते हैं। ये एक बहुत ही मसालेदार रोमांचक ड्रामा है लेकिन बहुत लम्बा नहीं है।

फवाद खान ने हमेशा की तरह बेहतरीन अभिनय किया है तो इसे देखना तो बनता है!

ज़िन्दगी गुलज़ार है देखने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

 

इन पाकिस्तानी ड्रामो की मुख्या बात ये है की इन्हे हिंदी सीरियल के जैसे च्युइंग जितना खींचा नहीं जाता। ये संक्षिप्त में अपनी कहानी बताते हैं और आपको खुद में लीन कर लेते हैं। तोह जब भी मौका मिले इन्हे यूट्यूब पर देखना न भूलें!

चित्र स्त्रोत: bollywoodlife, bollywoodhungama, wikiwand, followers-demand, netflix, darkice782, newspuddle, twitter, youtube, vidgood, mouthshut, aaj.tv, sonya rehman-wordpress

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *