Search

Home / Uncategorized / 5 पारम्परिक साड़ियां जो हर महिला के पास होनी चाहिए

5 पारम्परिक साड़ियां जो हर महिला के पास होनी चाहिए

Nupur Kumari | जुलाई 3, 2018

साड़ी भारत का एक प्रसिद्ध पारम्परिक पोशाक है। भारत में साड़ी का प्रचलन प्रायः शादी शुदा औरतों में ज्यादा है। जब भी कभी पारम्परिक पहनावे की बात होती है, कोई पूजा, त्यौहार या फिर कोई शादी, महिलाओं की पहली पसंद आज भी साड़ी ही है। साड़ी पारम्परिक होने के साथ साथ हमें एक स्टाइलिश लुक भी देता है।

भारत विविधता का देश माना जाता है। खानपान से लेकर पहनावेपोशाक तक में यहाँ विविधता पाई जाती है। हर राज्य का अपना अलग पहनावा होता है जिसे वो पारम्परिक अवसरों पर धारण करते हैं। ठीक उसी प्रकार साड़ियों के भी विभिन्न प्रकार होते हैं जो की पहनने में आसान और स्टाइलिश होते हैं।

आज हम कुछ पारम्परिक साड़ियों कि चर्चा करेंगे जिन्हे हम पारिवारिक अवसरों पर पहन सकते हैं।

 

1) बनारसी साड़ी

बनारसी साड़ी उत्तरी भारत में पहने जानी वाली सबसे मशहूर साड़ी है। यह उत्तर प्रदेश के एक शहर वाराणसी में बनाई जाती है। ये साड़ी अपने गोल्ड,सिल्वर, ज़री, और सिल्क की कढ़ाई के लिए प्रसिद्ध है। इस साड़ी को आप खासतौर पर शादी जैसे किसी अवसर पर पहन सकते हैं। ये साड़ी पहनने में थोड़ी भारी होती है इसीलिए सामान्य दिनों में इसे पहनना थोड़ा मुश्किल होता है।

 

2) कांजीवरम साड़ी

कांजीवरम सिल्क, एक प्रकार का सिल्क होता है जो तमिलनाडु में पाया जाता है। दक्षिण भारत में यह साड़ी बहुत प्रचलित है। तमिलनाडु की औरतें इस साड़ी को शादी या किसी बड़े अवसर पर पहनती है क्योंकि ये साड़ी भी बहुत ही भव्य और सुन्दर रूप प्रदान करती है। इस साड़ी के साथ भारी सोने की ज्वेलरी खूब जचती हैं।

 

3) पैठनी साड़ी

पैठनी साड़ी महाराष्ट्र की एक मशहूर सिल्क की साड़ी है जिसका नाम औरंगाबाद के पैठान टाउन के नाम पर दिया गया है। यह साड़ी सिल्क या ज़री की बनी होती है जिसके पल्लू पर मोर रुपी डिज़ाइन बना होता है। ये साड़ी प्रायः गहरे रंगों में आती है। परन्तु अब ये साड़ी थोड़े नवीकरण के साथ रही है। आप इसे भी किसी पारम्परिक अवसर पर पहन सकते हैं। इसके साथ नाक की नथ बहुत जचती है। आप इसके साथ अपने पारम्परिक गहने भी पहन सकते हैं।  

 

4) पटोला साड़ी

पटोला साड़ी गुजरात की मशहूर साड़ी है। इसे बनाया भी यहीं जाता है। इसके चार पैटर्न मशहूर हैं जिसे ग्राहक की विविधता को ध्यान में रख कर बनाया जाता है। इस साड़ी पर प्रायः तोता, फूल, हाथी, मोर इत्यादि के चित्र अंकित रहते हैं। इस साड़ी का उपयोग महाराष्ट्रीय ब्राह्मण शादी के वक़्त करते हैं। इस साड़ी को आप अलग अलग अंदाज़ में पहन कर बन सकते हैं पूरी महफ़िल में सबसे अलग। इसके साथ सिल्वर ज्वेलरी काफी जचती है।

 

5) चंदेरी साड़ी

चंदेरी साड़ी प्रायः सिल्क या कॉटन की बनी साड़ी होती है जो मध्य प्रदेश में बनाई जाती है। पारम्परिक रूप से इस साड़ी पर सिक्के, मोर, ब्लॉक्स, फूल के पैटर्न बने होते थे पर अब लोगों के अनुसार इसे भी कस्टमाइज्ड किया गया है। आप इसे किसी भी अवसर पर पहन सकते हैं। ये साड़ी आपको सिंपल लुक प्रदान करती है। यह साड़ी बहुत ही आरामदायक होती है जिसे आप आसानी से कहीं भी पहन सकते हैं। इसके साथ आप हल्की ज्वेलरी पहने।

चित्र श्रोत: Pinterest, The Indian Express, bollywoodlife, guiltybytes.

Nupur Kumari

BLOG TAGS

Uncategorized

COMMENTS (0)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *