क्यूँ आती है पेशाब में बदबू

Spread the love

सामान्य तौर पर पेशाब में कोई भी गंध नहीं होती। लेकिन कभी कभी आपने यह महसूस किया होगा कि यूरिन पास करते वक़्त एक तेज़ गंध सी आ रही है। यह गंध कभी कभी इतनी तेज़, तीखी और बदबूदार होती है कि आप खुद इसे सहन नहीं कर पातीं। यकीन मानिए ऐसा होना बिलकुल भी सामान्य नहीं है और अगर आप भी इस गंध से परेशान हैं तो इस पर तुरंत ध्यान देते हुए इसका उपचार करें। कुछ बेहद सामान्य लेकिन कुछ स्वास्थ्य संबंधी कारण भी होते हैं जो इस परेशानी को जन्म दे सकते हैं। आइये आपको बताते हैं क्या हैं ये कारण-

 

1.डीहाइड्रेशन –

सबसे पहला कारण है पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना। चिकित्सक कहते हैं जब आपका शरीर निर्जलित हो जाता है उस स्थिति में पेशाब में एक तेज़ गंध आने लगती  है और इसका रंग गहरा हो जाता है। यह हमारे शरीर का रिहाइड्रेट करने का तरीका है। पर्याप्त मात्रा में पानी पीना शरीर के लिए बहुत आवश्यक है और इसके लिए एक पानी की बोतल हमेशा अपने पास रखें ताकि आप दिन में कई बार पानी पीते रहें – कम से कम आठ गिलास।

 

2.तेज़ गंध वाले आहार और कॉफी –

आपको जान कर आश्चर्य होगा कि कई सारे ऐसे भोजन होते हैं जो आपके पेशाब की महक को बदल देते हैं जैसे कि ब्रुसेल्स स्प्राउट्स, प्याज, कुछ खास मसाले, लहसुन, करी, साल्मन मछ्ली और अल्कोहल। यहां तक की कॉफी का अधिक इस्तेमाल भी आपकी यूरिन की गंध को बदल सकता है।

 

3.यू टी आई –

महिलाओं में तेज़ गंध वाली यूरिन के लिए सबसे आम कारण यूटीआई होता है। तेज़ अमोनिया जैसी या थोड़ी मीठी सी गंध आने पर यह संकेत है कि यह यूटीआई हो सकता है। असल में, यह एक बैक्टीरिया के कारण होता है जिससे आपका पेशाब धुंधला या कभी कभी हल्के लाल रंग का भी हो सकता है और साथ ही पेशाब करने के दौरान आपको एक तेज़ सनसनाहट जैसा दर्द भी महसूस होता है। यदि ऐसा है तो तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें ताकि आप एंटीबायोटिक दवा शुरू कर सकें।

 

4.मधुमेह –

चिकित्सक कहते हैं कि मधुमेह बाथरूम से पहचान में आने वाला रोग है। इसमें आपको बार  बार पेशाब जाने की इच्छा होती है क्यूंकि आपकी किडनी शरीर में मौजूद एक्सट्रा चीनी को बाहर निकालने का काम करती रहती है। ऐसी स्थिति में यूरिन में फलों की जैसी खट्टी सी गंध आती है।

 

5.वेजाइनल डूश –

अगर आप डूश करते हैं तो कभी कभी इसका उल्टा असर यह होता है कि डूश के साथ आपकी वेजाइना के अच्छे बेक्टीरिया भी खत्म हो जाते हैं और जिससे पूरा योनि क्षेत्र प्रभावित होता है। अगर आपको यूरिन में बदबू की समस्या है तो इसे डूश से ठीक करने के बजाय अपने चिकित्सक से मिलें और सही उपचार करें।

 

6.गुर्दों में पथरी –

गुर्दे में मौजूद पथरी तब बनती है जब मूत्र में कुछ रसायन क्रिस्टलाइज हो जाते हैं। पेशाब में तेज़ गंध गुर्दे के अंदर मौजूद पत्थरों का संकेत हो सकता है। ऐसा होने पर बार बार यूटीआई की समस्या भी होती रहती है। यदि आपकी यूरिन में बदबू है और इसका रंग धुंधला सा है साथ ही आपकी पीठ में भी लगातार दर्द बना रहे तो स्टोन की जांच करवाने के लिए अपने डॉक्टर से तुरंत मिलें।

 

7.यीस्ट इन्फेक्शन –

यीस्ट इन्फेक्शन का पहला चिन्ह है योनि क्षेत्र में अजीब सी महक और खुजली। यह योनि के अंदर मौजूद बैक्टीरिया के असंतुलन के कारण होता है । हालांकि, यीस्ट संक्रमण आपकी योनि में होते हैं, लेकिन क्योंकि यह हमारे मूत्रमार्ग के नजदीक होता है इसकी गंध यूरिन में भी आ जाती है।

 

8.प्रेग्नेंसी और एस टी डी –

एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन जो गर्भावस्था के लिए ज़रूरी हैं आपकी यूरिन को एक अलग किस्म की तेज़ गंध भी दे सकते हैं। गर्भावस्था के दौरान अधिक हार्मोन पैदा होने से  आपकी पेशाब में सामान्य से अधिक तेज गंध हो सकती है, विशेष रूप से पहले ट्राईमेस्टर के दौरान। साथ ही यौन संक्रमित बीमारियां जैसे कि क्लाईमेडिया और ट्राईकोमोनिऐसिस जिनके लक्षण अक्सर शुरुआत में बहुत कम दिखते हैं और इनमें से एक है पेशाब में तेज़ महक।

 

9.फूड सप्लिमेंट्स –

कुछ सप्लिमेंट्स, विटामिन और दवाएं भी आपकी पेशाब की गंध में बदलाव कर सकती हैं। इसी प्रकार कुछ गोलियों की कोटिंग्स को ज्यादा आकर्षक बनाने के लिए तेज़ फ्लेवर मिलाये जाते हैं लेकिन साथ ही वे आपकी यूरिन की गंध को भी बदल सकते हैं। जैसे कि विटामिन बी सिक्स की गोलियां कुछ मल्टी-विटामिन, हृदय और गर्भावस्था इत्यादि की कुछ दवाएं।

यूरिन की गंध में बदलाव होने का कारण चाहे कुछ भी हो लेकिन एक बार अपने चिकित्सक की राय अवश्य लें ताकि किसी रोग की प्रारम्भिक स्थिति होने की दशा में इसका तुरंत उपचार शुरू किया जा सके।

 

चित्र स्त्रोत: Public Domain Pictures,  Pixabay, Wikipedia, flicker, Wikimediacommans, The Blue Diamond Gallery

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *