अग्नाशयी (पैंक्रिअटिक) कैंसर के कारण व् लक्षण

Spread the love

अग्नाशयी कैंसर अन्य सभी कैंसर से संबंधित मुद्दों के बीच पुरुषों और महिलाओं में मृत्यु का चौथा सबसे आम कारण है। यदि यह कैंसर प्रारंभिक अवस्था में खोजा जाता है तो व्यक्ति के बचने का 85% मौका होता है।

यहाँ अग्नाशय के कैंसर के कुछ सबसे सामान्य लक्षण हैं जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए!

 

1) पीलिया (Jaundice)

पीलिया एक बीमारी है जो आपकी त्वचा और आपकी आंखों के लिए एक पीले रंग की छाया विकसित करने का कारण बनती है। पीलिया आमतौर पर अग्नाशय के कैंसर से जुड़ा होता है क्योंकि यह शरीर में बिलीरुबिन की अधिकता के कारण होता है। अग्न्याशय शरीर में बिलीरुबिन के स्राव से जुड़े अंग हैं।

 

2) त्वचा की जलन (Skin Irritation)

अग्नाशय के कैंसर का एक अन्य लक्षण त्वचा में जलन और त्वचा पर पीले रंग की झुनझुनी का विकास हो सकता है। ये त्वचा की जलन कई रूपों में हो सकती है जैसे कि हंस के एक समूह या पूरे शरीर में बिखरे हुए। इन त्वचा मुद्दों का मुख्य कारण अत्यधिक बिलीरुबिन, शरीर में अपर्याप्त पाचन उत्प्रेरक और चयापचय की कम दर है।

 

3) गहरा मूत्र (Dark Urine)

सुस्त या गहरे रंग का मूत्र अत्यधिक बिलीरुबिन के कारण हो सकता है, जिसका अर्थ यह हो सकता है कि अग्न्याशय में एक कैंसरयुक्त ट्यूमर बढ़ रहा है।

 

4) चिकना मल (Greasy Stools)

जब अग्न्याशय में ट्यूमर आकार में बढ़ जाता है, जैसे कि यह पित्त नली को अवरुद्ध करता है तो पित्त भोजन को तोड़ने और वसायुक्त पदार्थों को संसाधित करने में असमर्थ होता है। इसके कारण, पदार्थ कच्चे मल के रूप में शरीर से बाहर निकल जाता है।

 

5) रंजित मल (Pigmented Stools)

चिकना मल के अलावा, मल में रंजकता अग्नाशय के कैंसर का एक और लक्षण हो सकता है। मल का रंजकता आमतौर पर तब होता है जब अग्नाशयी रस और पित्त पाचन तंत्र तक पहुंचने में असमर्थ होता है। इस रुकावट के परिणामस्वरूप, अग्नाशयी रस और पित्त दोनों मल में उत्सर्जित होते हैं।

इन लक्षणों पर ध्यान दें, और यदि आप उनमें से किसी से पीड़ित हैं, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें!

स्रोत: Brightenyourmood.com, Business Insider, FirstCry Parenting, Health & Human Research, Health24, Lowe’s, Mayo Clinic News Network.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *