5 टेस्ट जो हर महिला को 30 साल की उम्र के बाद करवाने चाहिए

Spread the love

परिवार की नींव यानि महिलाएं, क्‍या अपना ध्‍यान रख पाती हैं?

शायद नहीं।

जी हां परिवार के हर सदस्य की जरूरत का ध्यान रखना यानि उनकी सेहत, खान-पान और बच्चों की पढ़ाई की सारी जिम्मेदारी को अपना फर्ज मानने वाली महिलाएं खुद अपनी सेहत के बारे में इतनी सजग नहीं होतीं। शायद मैं भी अपने घर, पति और बच्‍चों की देखभाल में इतना खो गई हूं कि अपनी सेहत की ओर ध्‍यान ही नहीं दे पाती थी।

हाल ही में मुझे पता चला की ढलती उम्र के साथ शरीर में कई बीमारियां भी हो सकती हैं और महिलाओं को 30 साल की उम्र के बाद यह 5 टेस्ट ज़रूर करवाने चाहिए –

1. स्किन कैंसर टेस्ट

skin cancer test hindi

रोज़ाना हम अपने शरीर और चेहरे पर अनेक प्रकार की क्रीम और मेकअप का सामान इस्तेमाल करते हैं। इनमे से कुछ चीज़ों का त्वचा पर दुष्प्रभाव भी पद सकता है। इसलिए स्किन कैंसर टेस्ट ज़रूर करवाएं।

 

2. बीएमआई टेस्‍ट 

bmi test hindi

30 वर्ष की उम्र के बाद नियमित बीएमआई यानि बॉडी मास इंडेक्‍स चेक करना बेहद जरूरी होता है, इसलिए साल में एक बार बीएमआई जरूर करवाएं। बीएमआई से यह पता चलता है कि शरीर का वजन लंबाई के अनुपात में ठीक है या नहीं। महिलाओं का आदर्श बीएमआई 22 तक होता है। इससे अधिक बीएमआई मोटापे और कमजोर मसल्‍स का कारण बन सकता है।

 

3. ब्रैस्ट एग्जामिनेशन

breast examination test hindi

डॉक्टरों का कहना है कि इस चेकअप के दौरान प्रसूतिशास्री आपकी ब्रेस्‍ट का और अंदरूनी  चेकअप करती है जिससे समय रहते ब्रेस्‍ट में किसी भी तरह की गांठ का पता चल जाए और समय रहते समस्‍या का समाधान हो जाए।  

 

4. पैप स्मीयर

pap smear test hindi

इस टेस्ट में डॉक्टर आपके गर्भाशय ग्रीवा का निरिक्षण करता है और कैंसर के संकेत देखता है। मानव पेपिलोमा वायरस (एचपीवी) इंफेक्‍शन में भी पैप स्मीयर ही काम आता है और यह यौन संचारित रोगों का पता लगता है।

 

5. आँखों का टेस्ट

eye test hindi

आजकल सभी लोग लैपटॉप और स्मार्टफोन इतना देखते हैं की 30 की उम्र क बाद आपको एक बार आँखें भी चेक करवा लेनी चाहिए। देर तक मोबाइल स्क्रीन या लैपटॉप स्क्रीन देखने से आपकी आँखों पर गहरा असर पड़ता है और आँखें जल्दी कमज़ोर होती हैं।

तो देर किस बात की अगर आपकी उम्र भी 30 साल ज्‍यादा है तो आज ही अपने डॉक्‍टर से मिलकर ये टेस्‍ट करवाएं

चित्र स्त्रोत: natural society, ebacaberita, meteoweb.eu, rozvojovka.cz, performance wellness company, healthcare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *