अच्छी त्वचा, स्वस्थ बालों और एक फ़्लैट टम्मी के लिए रुजुता के कुछ ख़ास टिप्स

Spread the love

करीना कपूर खान की डायटीशियन, रूजुता दीवेकर, शायद आज के सबसे प्रसिद्ध फिटनेस एक्सपर्ट्स में से एक हैं। रूजुता अक्सर स्वस्थ आहार का पालन करने के बारे में सुझाव देती हैं।

हालांकि, आज हम आपको अच्छी त्वचा, स्वस्थ बाल और एक फ़्लैट टम्मी पाने के लिए रुजुता के टिप्स के बारे में बताएंगे

 

अच्छी त्वचा के लिए

रुजुता का कहना है कि हमारी त्वचा हमारे स्वास्थ्य का सबसे अच्छा संकेत है। यदि आपकी त्वचा नियमित रूप से ब्रेकआउट हो रही है, तो इसका यह मतलब है की आप एक गलत डाइट ले रहे हैं और आपका फिटनेस रूटीन भी सही नहीं हैं। अच्छी त्वचा के लिए, एक खाद्य समूह और पोषक आहार पर आधारित डाइट प्लान का पालन करना बहुत आवश्यक है। इनडाईजेशन और हार्मोनल असंतुलन भी खराब त्वचा का कारण बन सकता है। रुजुता स्वस्थ और चमकती हुई त्वचा के लिए निम्नलिखित चीज़ों की सिफारिश करतीं हैं :

 

1) किशमिश और केसर

रूजुता का कहना है कि आपको किशमिश और केसर को रातभर भिगोकर उन्हें हर सुबह लेना चाहिए। ऐसा करने से यह सुनिश्चित रूप से शरीर को वे सभी मिनरल्स और फ्लवोनोइड्स प्राप्त होते हैं जो हार्मोन को संतुलित करने के लिए आवश्यक होते हैं।

PCOD से पीड़ित महिलाओं के लिए भिगोकर किशमिश और केसर का सेवन एक अच्छा उपाय है। इसे लेने से माहवारी के दौरान के दर्द में भी आराम मिलता है। रूजुता का कहना है कि यदि आपको दर्द रहित माहवारी हो रही है, तो इसका मतलब है कि आपकी त्वचा स्वस्थ है और चमक रही है।

 

2) अराफ, हलीम और गार्डन क्रेस सीड्स

रुजुता का कहना है कि अराफ, हलीम और गार्डन क्रैस सीड्स त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद हैं। वह कहतीं हैं की ये बीज लौह और पोषक तत्वों का समृद्ध स्रोत हैं। रुजुता ने यह भी कहा है की ये बीज आपकी रंगत में सुधार लाते हैं और बाज़ार में उपलब्ध फेयरनेस क्रीम की तुलना में भी बेहतर होते हैं! वह कहती है की जब आप अंदर से स्वस्थ होते हैं, तो आपका शरीर अंदर से चमकता रहता है और यही कारण है कि आप बाहर से भी चमकती हैं।

रुजुता का कहना है कि इन सभी बीजों को आसानी से आपके दैनिक आहार में शामिल किया जा सकता है। उनका कहना है की आप इन बीजों को नारियल, गुड़ और घी से बने लड्डू में डाल सकती है। यदि आपके पास लड्डू बनाने का समय नहीं है, तो एक चम्मच बीज को दूध में भिगोकर भी ले सकती हैं। यदि आपको दूध पसंद नहीं है, तो आप घी में बीज भून कर खा सकती हैं। यदि आपको घी और दूध दोनों पसंद नहीं हैं, तो आप इन बीजों को शुष्क नारियल और गुड़ के मिश्रण में मिलाकर और इसे दोपहर के भोजन के रूप में ले सकती हैं। रुजुता ने 11 बजे या 3 बजे इन्हें खाने की सिफारिश की है। वह यह भी कहती हैं की अगर आपको भूख भी न हो, तब भी आपको यह मिश्रण ज़रूर खाना चाहिए।

 

3) घर का बना अचार

रुजुता का कहना है कि घर के बने अचार त्वचा के लिए सबसे अच्छी चीज़ हैं! आश्चर्य की बात है ना? वह कहती हैं की अचार खाने से आंत में बैक्टीरिया की विविधता को बनाए रखने में मदद मिलती है। हालांकि, वह कहती है की आपको अचार बनाने या बनाने से पहले दो चीजों के बारे में सावधान रहना चाहिए। रूजुता का कहना है कि अचार पारंपरिक तरीके से बनाए जाने चाहिए-जिस तरह से हमारे दादी और नानी उन्हें बनाया करतीं थीं। अचार की तैयारी करते समय, हमेशा हिमालयी नमक या मिनरल्स से समृद्ध नमक का उपयोग करें। यदि आपको सफेद नमक का उपयोग करना है, तो ‘मोटे नमक’ का प्रयोग करें। रुजुता का कहना है की दोपहर और रात के खाने के साथ थोड़ा सा अचार लेना शरीर में विटामिन D की मात्रा को पुनर्स्थापित करता है। बदले में, इसके कारण बेहतर नींद आती है और आपकी त्वचा के स्वास्थ्य में सुधार आता है और इससे एंटी-एजिंग प्रभाव भी पड़ता है।

 

स्वस्थ बालों के लिए

 

1) दाल, चावल और घी

रुजुता का कहना है की रात में दाल, चावल और घी खाने से बाल घने और स्वस्थ रहते हैं। वह यह भी कहती हैं की आपके बालों के स्वास्थ्य के लिए उचित नींद लेना बहुत महत्वपूर्ण है।

 

2) मेथी के बीज (मेथी)

रुजुता बार-बार स्वस्थ बालों के लिए मेथी के महत्व पर ज़ोर देतीं हैं। हालांकि,उनके मुताबिक केवल मेथी के बीज को भिगोकर खाने से ही बाल स्वस्थ नहीं होंगे, बल्कि इनके फायदों को और प्रभावशाली बनाने के लिए मेथी को कुछ आवश्यक फैट्स के साथ लेना भी जरूरी है।  रुजुता ने मेथीदाने के लड्डू बनाकर खाने की और अपने बालों के स्वास्थ्य में सुधार लाने की सिफारिश की है। लेकिन वह यह भी कहती हैं की मीठे स्वाद के बजाय, इन लड्डुओं का स्वाद कड़वा होता है। वह कहती हैं की मेथी से बने पारंपरिक व्यंजन बनाकर खाने चाहिए। वह कद्दू सब्जी का उदाहरण देती हैं जिसमें मेथी के बीज पारंपरिक रूप से इस सब्ज़ी की तैयारी में उपयोग किए जाते हैं।

 

3) हल्दी

हल्दी एक सुपर भोजन है जिसका प्रयोग प्राचीन काल से भारतीय खाना पकाने में किया जाता है। हल्दी दूध या करी और सब्ज़ियां जो हल्दी का उपयोग करें, आपके बालों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा, रूजुता यह भी कहती हैं की आपको अपने बालों की मालिश के लिए नारियल के तेल का उपयोग करना चाहिए।

 

एक फ़्लैट टम्मी के लिए

रुजुता का कहना है की क्रैश डाइटिंग, वज़न घटने का सबसे बुरा तरीका है! वह कहती हैं की यदि आप एक चपटा पेट चाहतीं हैं तो क्रैश डाइटिंग बिलकुल न करें। वह यह भी कहती हैं की यदि आप नियमित रूप से सूजन महसूस करते हैं, तो इसका मतलब है कि आप एक खराब डाइट प्लान का पालन कर रही हैं जो वास्तव में आपके मेटाबोलिक स्वास्थ्य को बर्बाद कर रहा है। रूजुता का कहना है की “मिड्रिफ क्षेत्र से फैट्स का लगातार घटना” एक फ्लैट टमी पाने का सही तरीका है।

 

1) हैमस्ट्रिंग क्षेत्र में लचीलापन विकसित करें

अपने हैमस्ट्रिंग में लचीलापन विकसित करना एक चपटा पेट प्राप्त करने की ओर आपका पहला कदम है। हैमस्ट्रिंग मांसपेशियां आपकी जांघों में मौजूद मांसपेशियां होती हैं। रुजुता का कहना है कि इस क्षेत्र में लचीलापन विकसित करने के लिए, नियमित योग और/या नियमित स्ट्रेचिंग रूटीन का पालन करना चाहिए। वह कहती हैं की जब तक की बिलकुल आवश्यक न हो, महिलाओं को ऊँची एड़ी के जूते पहनने से बचना चाहिए। ऊँची एड़ी पहनने की बजाय, महिलाओं को अच्छे और आरामदायक सैंडल, जूते या चप्पल पहनने चाहिए। वह यह भी कहती हैं की आपको लंबे समय तक एक ही स्थान पर नहीं बैठना चाहिए। हैमस्ट्रिंग में लचीलापन विकसित करने के लिए आपको हमेशा एक सक्रिय जीवनशैली का पालन करना चाहिए।

 

2) फेमूर क्षेत्र में हड्डी और मिनरल का घनत्व

जांघ की हड्डी, मानव शरीर में सबसे लंबी हड्डी है। इंसान के पूरे शरीर के वज़न का वज़न इस हड्डी पर टिका रहता है। इस क्षेत्र में हड्डी और मिनरल के घनत्व को सुधारना और बनाए रखना बहुत महत्वपूर्ण है। रूजुता का कहना है की यदि आप फेमूर क्षेत्र में हड्डी और मिनरल के घनत्व खो देते हैं, तो इस कारण निश्चिन्त रूप से ही आपके पेट पर बुरा प्रभाव पड़ेगा और पेट मोटा हो जायेगा। फेमूर में कम हड्डी और मिनरल के घनत्व से चौड़ाई में भी आपका वज़न बढ़ सकता है।

यह सुनिश्चित करने के लिए की आपके शरीर में हड्डी और मिनरल का घनत्व बरकरार रहे , रुजुता का कहना है की आपको दाल-चावल, घी, बाजरा, मौसमी लड्डू और मौसमी फल अवश्य खाने चाहिए। आपको हमेशा पारंपरिक, घर में पका भोजन लेना चाहिए। वह फेमूर में हड्डी और मिनरल के घनत्व में सुधार के लिए सप्ताह में कम से कम एक बार वेट ट्रेनिंग की भी सिफारिश करती हैं।

 

3) मजबूत पीठ

रुजुता का कहना है की एक अच्छी, मस्क्युलर और मजबूत पीठ होने से आपको एक टोनड मिडरिफ भी मिलती है। वह कहती हैं की पीठ में मज़बूत मांसपेशियों के होने की वजह से महिलाओं को न केवल एक फ्लैट टम्मी मिलने में मदद होती है बल्कि जब वे बैकलेस ब्लाउज या डीप-कट साड़ी ब्लाउज पहनती हैं तो पीठ ज़्यादा आकर्षक और सेक्सी दिखाई देती है। रुजुता का कहना है की एक लचीली और मज़बूत पीठ पाने के लिए महिलाओं को अपर बॉडी और लोवर बॉडी के वेट ट्रेनिंग व्यायाम करने चाहिए। वह यह भी कहती हैं की महिलाओं को उष्ट्रासन, चक्रासन और धनुरासन जैसे योग आसन नियमित रूप से करने चाहिए।

रुजुता का कहना है कि आपकी त्वचा, बाल और आपका पेट आपको अपने स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ बता सकते हैं। वह कहती हैं की :

यदि आपकी त्वचा ब्रेकआउट हो रही है और यदि आप शरीर में सूजन महसूस करतीं हैं तो इसका मतलब है की आप अपनी मेटाबोलिक फिटनेस को खो रहीं हैं। यदि आपके बाल गिर रहे हैं या आपके सिर पर कम बाल हैं, तो इसका मतलब है की आप सीमित आहार का पालन कर रहीं हैं जिसके आपके हार्मोनस पर प्रभाव पड़ना शुरू हो गया है। ऊपर दी गई टिप्स के अलावा, रुजुता का कहना है की महिलाओं को प्रति सप्ताह 150 मिनट के लिए काम करना चाहिए, यानि, लगभग 20 मिनट प्रतिदिन किसी प्रकार की एक्सेरसाइज़ आवश्यक है। वह कहती हैं कि आपको एक संतुलित और टिकाऊ डाइट प्लान का पालन करना चाहिए और हर दिन रात को समय पर सो जाना चाहिए।

इसके बारे में और जानने के लिए, नीचे दिया गया वीडियो देखें:

स्त्रोत : About Yoga, Amazon.in, Good Housekeeping, IndiaMART, L’Oreal Paris, Medical News Today, NDTV Food, Organic Facts, OrthoInfo, Parentune.com, Pixabay, Skky Fitness, The Week, Today Show, VegeCravings, Yoga Day Celebration, YouTube.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *