बालूशाही | Balushahi in Hindi

0.0 from 0 रिव्यूज़
रेट करें
द्वारा sweety tayal
निर्मित तिथि 20th Apr 2017
  • बालूशाही, How to make बालूशाही
बालूशाहीsweety tayal
  • बालूशाही | Balushahi in Hindi (2 लाइक्स )

  • 0 रिव्यूज़
    रेट करें
  • sweety tayal
    निर्मित तिथि 20th Apr 2017

About Balushahi in hindi

बालूशाही बिना खोया या छेना के बनने वाली उत्तर भारत की मशहूर मिठाई है, ये चाशनी में पकी हुई खस्ता मिठाई है।

बालूशाही एक बहुत ही स्वादिष्ट और लाजवाब व्यंजन है जो पुरे भारत में बहुत ही प्रसिद्ध है। इसका अनूठा स्वाद ही इसे अन्य खानो से अनोखा बनाता है। इसे बनाना बहुत ही आसान है, इसकी तैयारी में केवल 40 मिनट मिनट का समय लगता है और इसे पकाने में 40 मिनट का समय लगता है। बेटर बटर में आपको बालूशाही इन हिंदी में इसे बनाने की सरल विधि मिल जाएगी जिसकी सहायता से आप कभी भी बहुत ही आसानी से इसे बना सकते है। sweety tayal की बालूशाही को आप डाउनलोड कर सकते हैं जो 10 लोगों को सर्व करने के लिए पर्याप्त है। अब जब भी आपके घर में कोई पार्टी हो तो इस रेसिपी को अवश्य बनाये और अपने मेहमानों को खिलाये।

  • तैयारी का समय40मिनट
  • पकाने का समय40मिनट
  • पर्याप्त10लोग
बालूशाही रेसिपी

बालूशाही बनाने की सामग्री ( Balushahi Banane Ki Samagri Hindi Me )

  • मैदा – 500 ग्राम
  • शक्कर – 600 ग्राम
  • घी – 150 ग्राम
  • दही – 1/2 कप
  • बेकिंग सोडा – 01 छोटा चम्मच
  • घी – तलने के लिये

बालूशाही बनाने की विधि ( Balushahi Banane Ki Vidhi Hindi Me )

  1. बालूशाही मिठाई बनाने के लिये सबसे पहले मैदा को एक बड़े प्याले में छलनी से अच्छे से छान लीजिए. इसके बाद मैदा में दही और बेकिंग सोडा डालकर मिलाइए और गुनगुने पानी की सहायता से हल्का टाइट गूंथ लीजिए. जब सारी सामग्री एक अच्छी तरह से मिक्स हो जाए तब आटे को गीले कपड़े से ढ़क कर 20 मिनट के लिए रख दीजिए. जब तक आटा सेट हो रहा है तब तक आप सिरप तैयार कर लें।
  2. सिरप बनाने के लिए चीनी में पानी डालकर आंच पर चढ़ा दें। बीच-बीच में इसे चला दें। चीनी घुल जाएगी  और पानी उबलने लगेगा। जब ये एक तार की चाशनी बन जाए तो आंच को बंद कर दें। अब इस चाशनी में इलायची के दानों को पीसकर डाल दें। इलायची के दानों बालूशाही में खुशबू आ जाएगी।
  3. अब एक बार फिर आटे को निकाल लीजिए। अब आटे के गोल-गोल लोई बना लें। आटे की लोई नींबू के बराबर होनी चाहिए। लेकिन ये लोई गोल होने के बजाय दोनों तरफ से दबी होनी चाहिए। तो इसके लिए गोल लोई को हथेली पर थोड़ा दबा दें।
  4. अब घी (oil)को कड़ाही में गर्म कर लीजिए। आंच धीमी करके एक-एक करके पांच, छः बालूशाही डाल दें। बालूशाही (Balushahi) मोटी होती है इसलिए इसके पकने में वक्त लगता है। इसके लिए जरूरी है कि बालूशाही को धीमी आंच पर देर तक पकाया जाए, आठ से दस मिनट में बालूशाही सुनहरे रंग की हो जाएगी। इन सुनहरी बालूशाही को घी से निकालकर ठंडा होने के लिए रख दें।
  5. जब बालूशाही ठंडी हो जाए तो इसे गुनगुनी चाशनी मे डालकर 5-7 मिनट के लिए ढक कर रख दें। अब बालूशाही को चाशनी मे से निकालकर प्लेट में ठंडी होने के लिए रख दे। इसे बालूशाही के ऊपर लगी चाशनी सूख जाएगी। करीब एक घंटे में चाशनी का चिपचिपापन खत्म हो जाएगा। अब बालूशाही खाने के लिए तैयार है। इसे आप एयर टाइट कंटेनर में रख कर काफी समय तक खा सकते हैं.

Reviews for Balushahi in hindi (0)