Search

Home / Top Cooking Recipes in Hindi / राम नवमी की पूजा 21अप्रैल को। जानिए राम नवमी की ख़ास फलाहारी रेसिपीज़

राम नवमी की पूजा

राम नवमी की पूजा 21अप्रैल को। जानिए राम नवमी की ख़ास फलाहारी रेसिपीज़

Himanshu Pareek | अप्रैल 15, 2021

राम नवमी की पूजा भारत के प्रमुख त्याहौरों में से एक है। चैत्र नवरात्रि के ठीक नौ दिन बाद 21 अप्रैल को राम नवमी का त्यौहार (Ram Navami 2021) मनाया जाएगा। नवरात्रि के बाद राम नवमी की पूजा का विशेष महत्व होता है। नवरात्रि के 9 दिन के भोग के बाद रामनवमी पर विशेष तरह का माँ दुर्गा का भोग तैयार किया जाता है। नवरात्र में कन्या भोजन की भी परंपरा है जिसमें पूजा का खाना कन्याओं को खिलाया जाता है।

इस आर्टिकल Food for Navmi in Hindi में हम आपके लिए लेकर आये हैं नवमी का खाना बनाने की विधियां और इस मौके पर बनाये जाने वाले विभिन्न व्यंजनों की जानकारी। राम नवमी के अवसर पर कई लोग उपवास भी करते हैं इसलिए इस सूची में हम शामिल करेंगे राम नवमी के फलाहार व्यंजनों (Ram Navami fasting food) की जानकारी भी। आइये जानते हैं विस्तार से।

 

राम नवमी की पूजा

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार हर वर्ष चैत्र मास में शुक्ल पक्ष की नवमी को राम नवमी का त्याहौर मनाया जाता है। पौराणिक कथाओं में इस तिथि को भगवान राम के जन्म का दिन माना जाता है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार यह दिन चैत्र नवरात्रि का भी आखिरी दिन होता है, इसलिए इसे महानवमी भी कहा जाता है। राम नवमी के दिन भगवान राम के साथ आदिशक्ति की भी पूजा करने से सुख समृद्धि प्राप्त होते हैं।

राम नवमी की पूजा नवमी पूजा का शुभ महूर्त देखकर करनी चाहिए। पूजा के लिए प्रातः काल स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करें। इसके बाद शुभ महूर्त में भगवान राम व माँ दुर्गा के सामने घी का दीपक जलाएं और सभी देवी-देवताओं का स्मरण करें। पूजा के दौरान दुर्गा माँ और भगवान राम को पुष्प, फल व मिष्ठान अर्पित करें। अधिक फल की प्राप्ति के लिए माँ की ज्योत भी देखें और कन्याओं को भोजन कराएं। पूजन के बाद भगवान राम और माँ दुर्गा की आरती करके आशीर्वाद प्राप्त करें।

राम नवमी शुभ मुहूर्त

नवमी तिथि प्रारम्भ – 20 अप्रैल रात 12 बजकर 44 मिनट से शुरू

नवमी तिथि समाप्त –  21 अप्रैल रात 12 बजकर 33 मिनट तक

 

आइये अब जान लेते हैं रामनवमी के अवसर पर बनाये जाने वाले प्रमुख व्यंजनों (Ram Navami Recipes in Hindi) के बारे में।

 

राम नवमी के पकवान (Ram Navami Recipes in Hindi)

राम नवमी के अवसर पर महानवमी का विशेष पर्व भी मनाया जाता है। इस दिन पर मुख्य रूप से फलाहारी आहार बनाया जाता है। कन्याओं को भोजन करवाने के लिए पूरी, सब्जी, हलवा व चने की सब्ज़ी भी बनाई जा सकती है। आइये जानते हैं राम नवमी के विशेष पकवानों के बारे में-:

 

1. रोज़ फ्लेवर श्रीखंड

भगवान राम और माँ दुर्गा का भोग बनाने के लिए श्रीखंड एक बेहतरीन विकल्प है। इसे दही, चीनी, गुलकंद, मेवे व इलायची पाउडर के मिश्रण से बनाया जाता है। यूँ तो साधरण श्रीखंड भी काफ़ी स्वादिष्ट लगता है, पर इसमें रोज़ फ्लेवर डालने से इसकी खुशबू और स्वाद दोनों निखर जाते हैं।

2. फलाहारी चूरमा

रामनवमी पर अधिकतर लोग उपवास करते हैं पर इस दौरान फलाहार किया जा सकता है। रामनवमी के अवसर पर कुछ मीठा बनाना चाह रहे हैं तो सिंघाडे का आटा, राजगिरे का  आटा, गुड़, बारीक कटी गोंद, इलायची पाउडर, कसा हुआ खोपरा, घी व सूखे मेवे जैसे काजू, बादाम, व किशमिश इत्यादि के मिश्रण से आप फलाहारी चूरमा बना सकते हैं। फलाहारी चूरमा बनाना बहुत ही आसान है, और यह खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ काफ़ी पौष्टिक भी होता है।

 

Also read: चैत्र नवरात्रि 2021: जानिए नवरात्रि के लिए व्रत की रेसिपीज हिंदी में

 

3. कुट्टू की पूरी

Ram Navami recipes

रामनवमी के अवसर पर फलाहार करने के लिए आप गेहूं के स्थान पर कुट्टू की पूरी बना सकते हैं। इन्हें बनाने के लिए कुट्टू का आटा हल्का सेंधा नमक मिलाकर गूंथ लें। इस आटे की सामान्य प्रक्रिया से पूरियाँ उतार लें। इन पूरियों को आप आलू की फलाहारी सब्जी के साथ खा सकते हैं।

4. राजगिरे आटे का हलवा

गेहूं के आटे का हलवा तो हम आये दिन घरों में बना लेते हैं, पर क्या आपने कभी राजगिरे आटे का हलवा ट्राई किया है? इसे बनाने के लिए राजगिरे आटे को छान लें, और इसे गर्म घी में डालकर धीमी आंच पर सेकें। जब खुशबू आने लगे तो आटे में गर्म पानी और शक्कर डालकर मिलाएं। हलवे के पकने के बाद इसमें इलायची और काजू, बादाम व अन्य मेवे मिला दें। इस तरह स्वादिष्ट फलाहारी हलवे का भोग भगवान को लगाएं और स्वयं भी प्रसाद ग्रहण करें।

5. कुट्टू की पकौड़ी

फलाहार में खाने के लिए कुट्टू की पकौड़ी भी अच्छा विकल्प है। इसके लिए कुट्टू के आटे में सेंधा नमक, काली मिर्च, व कटी हुई हरी मिर्च मिलाकर पकौड़ी का घोल तैयार करें। इस घोल की पकौड़ी तैयार करें। इन पकौड़ियों को हरी मिर्च की चटनी के साथ खाया जा सकता है।

6. समा के चावल

व्रत में सामान्य की जगह फलाहार में समा के चावल खा सकते हैं। इसके लिए एक कढ़ाही में घी गर्म करके उसमें उबले आलू, कटी हुई हरी मिर्च, सेंधा नमक, काली मिर्च व समा के चावल डालकर स्वादिष्ट भोजन तैयार कर सकते हैं। अगर कुछ मीठा खाना चाहें तो समा के चावल की खीर भी बना सकते हैं।

 

Also read: Shivratri Recipes in Hindi: महाशिवरात्रि की स्वादिष्ट व्यंजन और महत्व

 

7. सिंघाड़े के लड्डू से नवमी की पूजा

रामनवमी और महानवमी के अवसर पर आप भगवान को सिंघाड़े के लड्डू का भोग भी लगा सकते हैं। इसे बनाने के लिए हमें सिंघाडे के आटे, राजगिरे के आटे, शक्कर, घी, इलाइची व सूखे मेवों की आवश्यकता होती है। दोनों तरह के आटों में घी मिलाकर सेकने के बाद उनमें पिसी हुई शक्कर, इलायची पाउडर, काजू के टुकड़े, बादाम, किशमिश, खोपरा इत्यादि मिला दें। अब इस मिश्रण के लड्डू तैयार करें। ये लड्डू खाने में तो स्वादिष्ट लगते ही हैं, साथ ही काफ़ी पौष्टिक भी होते हैं।

8. साबुदाने की खिचड़ी

sabudane ki khichdi

फलाहार में साबुदाने का विशेष महत्व होता है। इससे आप स्वादिष्ट और पौष्टिक साबुदाने की खिचड़ी बना सकते हैं। इसे बनाने के लिए साबुदाने में हरी मिर्च, टमाटर, काली मिर्च, आलू व सेंधा नमक मिलाकर घी में छौंक लें। इससे पेट भी भरेगा और स्वाद की ज़रूरत भी पूरी होगी।

9. नवमी की पूजा के लिए राजगिरे की पंजरी

हम आम दिनों में भगवान को गेहूं के आटे की पंजरी का भोग लगाते ही हैं। रामनवमी के अवसर पर आप भगवान राम को राजगिरे की फलाहारी पंजरी का भोग लगाकर स्वयं भी प्रसाद प्राप्त कर सकते हैं। इसे बनाने के लिए राजगिरे के आटे को घी में सेककर उसमें सभी प्रकार के मेवों की कतरन और पिसी हुई शक्कर मिला दें। राजगिरे की पंजरी तैयार हो जाएगी।

10. केले की चाट

फलाहार में कुछ चटपटा खाने का दिल हो तो केले की स्वादिष्ट चाट भी बनाई जा सकती है। इसे बनाने के लिए कटे केले में काली मिर्च व सेंधा नमक मिलाकर ऊपर से नींबू का रस छिड़क दें। ये चाट खाने में पौष्टिक और बेहद स्वादिष्ट लगती है।

 

उपरोक्त व्यंजनों के अतिरिक्त आप रामनवमी के विशेष अवसर पर फलाहारी चीला, मूली थेपला, खट्टे-मीठे आलू इत्यादि भी बना सकते हैं। ध्यान रखें कि अपने फलाहार में स्वाद और पोषण बराबर मात्रा में रखें।

रामनवमी और नवमी की पूजा भगवान की पूजा-अर्चना का विशेष अवसर होता है। इस आर्टिकल में हमने आपसे रामनवमी पर बनाये जाने वाले विशेष फलाहारी पकवानों (Ram Navami Recipes in Hindi) की जानकारी साझा की। कैसा लगा आपको हमारा ये आर्टिकल, हमें बताइये, साथ ही इसे शेयर कीजिये अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ। ऐसी ही अनमोल जानकारी और नई-नई रेसिपीज़ के लिए जुड़े रहिये BetterButter के साथ।

 

 

Disclaimer-: BetterButter इस ब्लॉग में प्रकाशित किए गए किसी भी चित्र अथवा वीडियो का आधिकारिक दावा नहीं करता है। इस ब्लॉग में सम्मिलित दृश्य-श्रव्य सामग्री पर मूल रचनाकार के अधिकार का हम पूरा सम्मान करते है तथा प्रकाशित रचना का उचित श्रेय रचनाकार को देने का पूर्ण प्रयास करते है। अगर इस ब्लॉग में सम्मिलित किसी भी चित्र या वीडियो पर आपका कॉपीराइट है और आप उसे BetterButter पर नहीं देखना चाहते तो हमसे संपर्क करें। उक्त सामग्री को ब्लॉग से हटा दिया जायेगा। हम किसी भी सामग्री के लेखक, फोटोग्राफर एवं रचनाकार को उसका पूरा श्रेय देने में विश्वास करते है।

 

Himanshu Pareek

हिमांशु एक लेखक हैं और उन्हें खान-पान, आयुर्वेद, अध्यात्म एवं राजनीति से सम्बंधित विषयों पर लिखने का अनुभव है। इसके अलावा हिमांशु को घूमना, कविताएँ लिखना-पढ़ना और क्रिकेट देखना व खेलना पसंद है।

COMMENTS (0)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *