ताम्बे के बर्तन से पानी पीने के फायदे

Spread the love

आपने यह तो सुना होगा की पुराने ज़माने में लोग पानी पीने के लिए ताम्बे के बर्तन का इस्तेमाल करते थें। लेकिन, आज के युग में यूवी फिल्टर और आरओ प्यूरीफायर के कारण लोग शायद ही कभी ऐसा करते हैं। तांबे के बर्तन से पानी पीने की प्राचीन आयुर्वेदिक प्रथा के फायदे कुछ इस प्रकार हैं-

 

1.मस्तिष्क को उत्तेजित करता है-

तांबे के कप से पानी पीने से मस्तिष्क को उत्तेजित करने में मदद मिलती है। यह मस्तिष्क को अधिक सक्रिय बनाता है और मस्तिष्क के कार्य को तेज करता है।

 

2.गठिया के दर्द को ठीक करता है-

तांबे में बहुत शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। ये विशेष रूप से गठिया के दर्द से राहत दिलाने में बहुत प्रभावी होते हैं। इसके अलावा, तांबा हड्डियों और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करता है।

 

3.त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ाता है-

तांबा मेलेनिन के मुख्य घटकों में से एक है जो हमारी आंखों, बालों और त्वचा के रंग को नियंत्रित करता है। तांबा नई कोशिकाओं के उत्पादन में मदद करता है, जो त्वचा को फिर से भरने और इसे नरम और कोमल बनाने में मदद करता है।

 

4.थायरॉयड ग्रंथि के कार्य को नियंत्रित करता है-

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने देखा है कि ज्यादातर लोग जो थायराइड से पीड़ित हैं, उनके शरीर में कॉपर की कमी है। हालांकि, कॉपर की कमी आमतौर पर हाइपरथायरायडिज्म (अतिरिक्त थायरॉयड हार्मोन) और हाइपोथायरायडिज्म (थायराइड हार्मोन के निम्न स्तर) से पीड़ित लोगों पायी जाती है।

 

5.एजिंग प्रक्रिया को धीमा कर देता है-

तांबे में बहुत मजबूत एंटीऑक्सीडेंट और कोशिका बनाने वाले गुण होते हैं। यह शरीर को मुक्त कणों से बचाता है, जिससे चेहरे में झुर्रियां नहीं होती।

 

6.पाचन में सुधार करता है-

तांबा ना केवल पेट को साफ और डीटॉक्स करने में मदद करता है, बल्कि यह यकृत और गुर्दे के काम को भी नियंत्रित करता है। तांबा भोजन से पोषक तत्त्व के आसानी से अवशोषित होने को भी सुनिश्चित करता है।

 

7.हानिकारक बैक्टीरिया को मारता है-

तांबे के जग में पानी रखने से और तांबे के कप से पानी पीने से शरीर में एक प्राकृतिक शुद्धिकरण प्रक्रिया का निर्माण होता है। तांबा बैक्टीरिया और कवक जैसे सूक्ष्मजीवों को मारता है, जिससे पानी पीने योग्य हो जाता है।

 

8.एनीमिया से छुटकारा दिलाता है-

कॉपर शरीर के भीतर होने वाली विभिन्न प्रक्रियाओं के प्राथमिक घटकों में से एक है। नई कोशिकाओं के निर्माण से लेकर आयरन के अवशोषण तक, तांबा शरीर के लिए एक आवश्यक खनिज है।

 

9.कैंसर और हृदय रोग के जोखिम को कम करता है-

तांबे के एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं जो मुक्त कणों से लड़ते हैं और शरीर पर उनके बुरे प्रभावों को नहीं पड़ने देते। ये कैंसर के प्रमुख कारणों में से एक है। इसके अलावा शरीर में रक्तचाप, हृदय गति, कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है।

समय के साथ, हमने धीरे-धीरे महसूस किया कि हमारे पूर्वजों द्वारा अपनाई जाने वाली प्रथाएं कितनी फायदेमंद थीं। तो, अब से आप भी साधारण गिलास के बजाय तांबे के कप/ गिलास से पानी पीना शुरू करें।

 

चित्र स्रोत: Cosmos Magazine, CureJoy, Health24, Hindustan Times, MindBodyGreen, NDTV Food, NetDoctor, Organic Facts, Shape Magazine,   StyleBlueprint, SUCH TV, Warner Orthopaedics.

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *