Search

Home / Monsoon / Benefits of Sugarcane Juice in Hindi: जानिए 9 अनसुने गन्ने के जूस के फायदे!

Benefits of Sugarcane Juice in Hindi

Benefits of Sugarcane Juice in Hindi: जानिए 9 अनसुने गन्ने के जूस के फायदे!

Himanshu Pareek | अगस्त 2, 2021

Benefits of Sugarcane Juice in Hindi: हर एक मौसम अपने साथ नए-नए तोहफ़े लेकर आता है। गर्मियों की अगर बात की जाए तो गर्मी के मौसम (summer season) का शायद ऐसा ही एक नायाब तोहफा है गन्ने का जूस (Sugarcane Juice)। ठंडे-ठंडे गन्ने के जूस का एक ग्लास ही हमारी प्यास बुझाने, शरीर को ठंडक पंहुचाने और हमें दिनभर तरोताजा रखने के लिए काफी होता है। पर क्या आप जानते हैं कि हमें तरोताजा करने और प्यास बुझाने के अलावा हमारे शरीर को पोषण और औषधीय दृष्टि से भी गन्ने के जूस के फायदे (Benefits of Sugarcane Juice in Hindi) होते हैं?

Benefits of Sugarcane Juice in Hindi

इस आर्टिकल में हम जानेंगे गन्ने के जूस के पौष्टिक तत्व और गन्ने के जूस के फायदों के बारे में। आइये जानते हैं विस्तार से!

 

गन्ने के जूस के फायदे – Benefits of Sugarcane Juice in Hindi

गन्ने का रस (sugarcane juice) हर तरह से बहुत उपयोगी होता है। गन्ने के रस का उपयोग गुड़(Jaggery), चीनी व सिरका जैसे महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थ बनाने के लिए किया जाता है और अगर हम गन्ने के रस का सेवन इसके मूल रूप में ही करते हैं तो भी इसके ढेरों लाभ होते हैं। गन्ने के जूस में प्रोटीन (Protein), कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, आयरन, मैंगनीज (Manganese) व विटामिन ए (Vitamin A) व विटामिन बी (Vitamin B) जैसे पौष्टिक तत्व प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं। गन्ने के रस की तासीर ठंडी होती है और इसके सेवन से कई औषधीय लाभ (medicinal benefits) भी होते हैं। इस आर्टिकल में आगे हम जानेंगे गन्ने के रस के प्रमुख फायदे (benefits of sugarcane juice in Hindi)। आइये जानते हैं विस्तार से।

1. ऊर्जा पाने के लिए गन्ने के जूस के फायदे – Benefits of Sugarcane Juice for Energy

गर्मियों के मौसम (summer season) में हमारे शरीर की ऊर्जा (energy) जल्दी-जल्दी खत्म होती है और कई बार हम डिहाइड्रेशन का शिकार भी हो जाते हैं। ऐसी स्थिति में गन्ने का रस तत्काल ऊर्जा पाने और स्वयं को तरोताजा महसूस करवाने का अच्छा साधन है। गन्ने के रस में विभिन्न प्रकार के पौष्टिक तत्व (nutrients) पर्याप्त मात्रा में मौजूद होते हैं जो शरीर में अवशोषित होने पर हमें ऊर्जा (energy) प्रदान करते हैं। नींबू, नमक व पुदीना मिलाकर तैयार किये गए गन्ने के रस का खट्टा-मीठा स्वाद हमें तुरंत ताज़गी पहुँचाता है, और हम पहले से अधिक सक्रिय महसूस करने लगते हैं।

2. पथरी में गन्ने का जूस है फायदेमंद – Sugarcane Juice Benefits in Stones

हमारे शरीर को तरोताज़ा करने के अलावा गन्ने का जूस हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का काम भली-भांति करता है। विभिन्न शोधों के अनुसार गन्ने के रस के नियमित सेवन से गुर्दे की पथरी (kidney stone) की समस्या में लाभ होता है। गन्ने का रस शरीर के डिटॉक्सीफिकेशन में लाभदायक होता है, तथा शरीर को स्वच्छ करने वाली कोशिकाओं को सुचारू रूप से चलाता है।

3. मुँहासों से बचाता है गन्ने का रस

गर्मियों में मौसम में त्वचा सम्बंधी बीमारियाँ (skin diseases) भी सामान्य से अधिक होती हैं। गन्ने का रस त्वचा संबंधी अनेकों समस्याओं और खासतौर पर मुँहासों (acne) से लड़ने में काफ़ी कारगर सिद्ध होता है। गन्ने के रस की तासीर ठंडी होती है और इसके नियमित सेवन से शरीर में शीतलता का संचार होता है, जिससे मुँहासे नही होते। गन्ने के रस के सेवन के अलावा, गन्ने के जूस से बना फेसपैक भी चेहरे पर लगाकर मुँहासों से निजात पाई जा सकती है। मुँहासों को दूर करने के लिए ताज़े गन्ने के रस में मुल्तानी मिट्टी मिलाकर चेहरे पर लगाएं और कुछ समय रखने के बाद चेहरे को गीले नर्म तौलिये से साफ कर लें। गन्ने के रस में अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड त्वचा में मौजूद मृत कोशिकाओं को बाहर निकालने का काम करता है, जिससे चेहरा साफ होकर चमकने लगता है।

 

ये भी पढ़े: अपनी स्किनकेयर रूटीन में शामिल करें ये प्राकृतिक अवयव

 

गन्ने के रस के नियमित सेवन से हमारे शरीर में विभिन्न एंटी-ऑक्सीडेंट्स की आपूर्ति भी होती है, जिससे त्वचा कोमल (soft skin), चमकदार व लम्बे समय तक जवान बनी रहती है।

4. रक्तचाप नियंत्रित करने में गन्ने के रस के फायदे

रक्तचाप आजकल कई लोगों के लिए एक गम्भीर समस्या बन चुका है। ऊपर-नीचे होते रक्तचाप की वजह से लोगों को कई अन्य गम्भीर समस्याओं जैसे स्ट्रोक व दिल के दौरे का सामना भी करना पड़ सकता है। कई शोधों में ये बात सामने निकलकर आयी है कि गन्ने के जूस का नियमित रूप से सेवन, रक्तचाप को नियंत्रित (blood pressure control) करने में सहायक हो सकता है। गन्ने के रस में मौजूद पोटैशियम नामक खनिज धमनियों और शिराओं में रक्त का प्रवाह सुचारू रखता है, तथा रक्त वाहिकाओं पर दबाव नही पड़ने देता। इस तरह से रक्तचाप नियंत्रित रहता है।

5. हड्डियों और दाँतों को मजबूत करता है गन्ने का रस

गन्ने के जूस में जो पौष्टिक तत्व प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं, उनमें से एक है कैल्शियम। गन्ने के जूस का नियमित रूप से सेवन करने से हमारे शरीर में कैल्शियम का उचित स्तर बना रहता है। कैल्शियम हमारी हड्डियों और दाँतों की मजबूती के लिए एक अनिवार्य पोषक तत्व है, और शरीर में कैल्शियम की आपूर्ति होने से हड्डी व दंत सम्बंधी समस्याएँ कम हो जाती हैं। नियमित रूप से गन्ना चबाने से भी दाँत मजबूत होते हैं। बढ़ते बच्चों के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए गर्मी के मौसम में गन्ने के रस का सेवन अच्छा माना जाता है। गन्ने के रस का सेवन करने या गन्ने के रस को नाखूनों पर लगाने से नाखून भी मजबूत और चमकदार बनते हैं।

6. पीलिया का रामबाण इलाज है गन्ने का रस – Sugarcane Juice Benefits for Jaundice

पीलिया (Jaundice) एक गम्भीर रोग है जो सीधा हमारे लीवर पर प्रहार करता है, और अगर इसका इलाज समय रहते न किया जाए तो यह जानलेवा भी हो सकता है। पीलिया के निवारण के लिए गन्ने का रस एक रामबाण औषधि है। पीलिया अथवा लीवर सम्बंधी अन्य रोगों के चलते हमारा लीवर कमजोर होने लगता है, ऐसे में दिन में दो बार गन्ने के रस में नींबू डालकर पीना लाभदायक होता है। पीलिया के दौरान हमारा शरीर भोजन को अच्छे से पचा नही पाता और इस दौरान गन्ने के रस का सेवन शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बनाए रखता है।

7. पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में गन्ने के रस के फायदे – Benefits of Sugarcane Juice for Digestive System

अगर किसी भी कारण से आपका पाचन तंत्र (Digestive System) ठीक तरह से काम नही कर रहा है तो अपने दैनिक आहार में गन्ने का रस शामिल करना लाभदायक हो सकता है। गन्ने के रस में मौजूद पोटेशियम, हमारे पाचन रसों को बढ़ाने में मददगार होता है। गन्ने का रस पीने से हमारा मानसिक तनाव भी कम होता है जिससे भूख खुलकर लगती है। एसिडीटी होने या गैस बनने पर गन्ने के रस के सेवन से लाभ होता है। कब्ज होने पर नियमित रूप से गन्ने के रस का सेवन लाभ पहुँचाता है।

8. वजन कम करने में सहायक है गन्ने का रस – Sugarcane Juice Benefits for Weight Loss

अगर आप सोच रहे हैं कि गन्ने के रस में कितनी कैलोरी होती है और क्या इससे आपका वजन बढ़ सकता है, तो आपको बात दें कि लगभग 100 मिली गन्ने के रस में 269 कैलोरी होती है। इससे आपका वजन नही बढ़ता। हालाँकि गन्ने के रस में मौजूद फाइबर हमारे शरीर में मौजूद अतिरिक्त कोलेस्ट्रोल को हटाकर वजन कम (weight loss) करने में सहायक अवश्य होते हैं।

9. मधुमेह को नियंत्रित रखता है गन्ने का रस – Benefits of Sugarcane Juice for Diabetes

कई बार हमारे भीतर यह उलझन होती है कि क्या मधुमेह/शुगर (Diabetes) में गन्ने का रस पीया जा सकता है, तो आपको बता दें कि मधुमेह से पीड़ित होने पर सीमित मात्रा में गन्ने के रस का सेवन किया जा सकता है। मधुमेह के दौरान गन्ने के रस का सेवन करने से कोई नुकसान नही होता बल्कि गन्ने के रस में मौजूद सुक्रोज रक्त में शर्करा का स्तर नियंत्रित करने में सहायक होता है।

 

ये भी पढ़े: डायबिटीज़ के वो शुरुवाती लक्षण जो आपको जानना है ज़रूरी

 

उपरोक्त फायदों के अतिरिक्त गन्ने के रस का सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने, बुखार (fever) का नाश करने, साँस की बदबू मिटाने, कैंसर की रोकथाम करने, गले का संक्रमण दूर करने, घावों को जल्दी भरने, माँसपेशियों को मजबूत बनाने तथा गर्भवती महिलाओं में पोषण की आपूर्ति करने में लाभदायक होता है।

 

गन्ने का रस पीने का सही समय

गन्ने के रस की तासीर ठंडी होती है, इसलिए गन्ने का रस पीने का सही समय गर्मियों (summer) का होता है। मुख्य भोजन से पहले ख़ाली पेट (empty stomach) गन्ने का रस पीने के फायदे (benefits of sugarcane juice in Hindi) सबसे अधिक माने जाते हैं। सेवन से पहले गन्ने के रस में नींबू, पुदीना, काला नमक व अदरक मिलाना और भी अधिक स्वादिष्ट व प्रभावी गन्ने का रस बनाने की विधि है। गन्ने के रस की खीर बनाने की विधि यहाँ से देखें। गन्ने के रस के फायदे अनंत हैं, पर इस बात का ध्यान रखें कि किसी भी अस्वच्छ स्थान पर गन्ने का रस नही पीएँ और न ही 15 मिनट से अधिक समय से रखे हुए गन्ने के रस का सेवन करें, अन्यथा स्वास्थ्य पर इसके प्रतिकूल प्रभाव भी हो सकते हैं।

 

इस आर्टिकल में हमने आपसे गन्ने के जूस के फायदे साझा किए। कैसा लगा आपको हमारा ये आर्टिकल, हमें बताइए, साथ ही इसे साझा कीजिए अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ। ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारी और नई-नई फ़ूड रेसिपीज़ (Food Recipes) के लिए जुड़े रहिए BetterButter के साथ!

 

Disclaimer-: BetterButter इस ब्लॉग में प्रकाशित की गयी किसी भी चित्र अथवा वीडियो का आधिकारिक दावा नहीं करता है। इस ब्लॉग में सम्मिलित दृश्य-श्रव्य सामग्री पर मूल रचनाकार के अधिकार का हम पूरा सम्मान करते है तथा प्रकाशित रचना का उचित श्रेय रचनाकार को देने का पूर्ण प्रयास करते है। अगर इस ब्लॉग में सम्मिलित किसी भी चित्र या वीडियो पर आपका कॉपीराइट है और आप उसे BetterButter पर नहीं देखना चाहते तो हमसे संपर्क करें। उक्त सामग्री को ब्लॉग से हटा दिया जायेगा। हम किसी भी सामग्री के लेखक, फोटोग्राफर एवं रचनाकार को उसका पूरा श्रेय देने में विश्वास करते है।

Himanshu Pareek

हिमांशु एक लेखक हैं और उन्हें खान-पान, आयुर्वेद, अध्यात्म एवं राजनीति से सम्बंधित विषयों पर लिखने का अनुभव है। इसके अलावा हिमांशु को घूमना, कविताएँ लिखना-पढ़ना और क्रिकेट देखना व खेलना पसंद है।

COMMENTS (1)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *