Search

Home / Nutrition in Hindi (पोषण) / Vitamin C: जानिए विटामिन सी के फायदे व नुकसान और इसके स्रोत!

विटामिन सी के फायदे

Vitamin C: जानिए विटामिन सी के फायदे व नुकसान और इसके स्रोत!

Himanshu Pareek | जून 11, 2021

विटामिन सी हमारे स्वास्थ्य के लिए है ज़रूरी लेकिन क्या आप जानते हैं ये सभी विटामिन सी के फायदे और नुकसान?

विटामिन सी हमारे शरीर के लिए सर्वाधिक आवश्यक पोषक तत्वों में से एक है। विशेषज्ञों के अनुसार विटामिन सी हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विटामिन सी की पूर्ति हमारे शरीर के विभिन्न अंगों को तंदुरुस्त बने रहने और शरीर में आहार से मिलने वाले पोषण के सम्पूर्ण अवशोषण के लिए भी उपयोगी (Vitamin C Uses in Hindi) होती है। शरीर में विटामिन सी की कमी होने पर आप कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का सामना कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हम जानेंगे विटामिन सी के फायदे (Vitamin C Benefits in Hindi) और नुकसान। आइये जानते हैं विस्तार से।

 

विटामिन सी क्या है? (Vitamin C in Hindi)

विटामिन सी हमारे शारीरिक और मानसिक विकास के लिए आवश्यक प्रमुख तत्वों में से एक है। इस ऑर्गैनिक एसिड को एस्‍कोर्बिक एसिड, एल-एस्‍कोर्बिक एसिड, एवं एल-एस्‍कोर्बेट के नाम से भी जाना जाता है। विटामिन सी पानी में आसानी से घुल जाता है और शरीर इसे संग्रहित करके नहीं रखता। विटामिन सी कोलाजन और नयूरोट्रान्समीटर्स के उत्पादन में भी कारगर होता है। विटामिन सी विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट से युक्त होता है जो कि हमें सामान्य फ्लू से बचने, रक्त संचरण दुरुस्त रखने, हड्डियों व मांसपेशियों को स्वस्थ बनाने तथा त्वचा को रोग मुक्त बनाने में कारगर होते हैं। शरीर में विटामिन सी की आपूर्ति होने से हमारे आहार में मौजूद आयरन भी शरीर में अच्छे से अवशोषित हो पाता है जिससे शरीर में रक्त की पर्याप्त मात्रा बनी रहती है।

हालाँकि ये बात भी सत्य है कि शरीर में अगर विटामिन सी की मात्रा अधिक हो जाये, तो भी हमें कई स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हो सकती हैं। शरीर में विटामिन सी की मात्रा अधिक होने का सीधा दुष्प्रभाव हमारे पाचन तंत्र पर पड़ता है, जो कि अन्य समस्याओं को जन्म दे सकता है। इस आर्टिकल में आगे हम विटामिन सी के फायदे और नुकसान पर विस्तार से चर्चा करेंगे। आइये पहले जान लेते हैं विटामिन सी के फायदे।

 

विटामिन सी के फायदे (Vitamin C Benefits in Hindi)

हमारे शरीर को विटामिन सी के लाभ निम्न होते हैं-:

1. त्वचा की नमी बनाए रखने में

विटामिन सी का मुख्य फायदा हमारी त्वचा की नमी बरकरार रखने में होता है। शरीर में विटामिन सी की कमी की वजह से मौसम बदलने पर त्वचा का रूखा-सूखा होना आम बात है। दरअसल विटामिन सी एप्रिकॉट नामक तत्व से युक्त होता है, जो कि त्वचा को उचित पोषण पहुंचाता है। यही कारण है कि अनेकों कॉस्टमेटिक उत्पादों में विटामिन सी मौजूद होता है। विटामिन सी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों और प्रदूषण के तत्वों से बचाने के लिए भी अत्यावश्यक है। विटामिन सी से शरीर में कोलेजन का निर्माण भी होता है, जिससे चेहरे पर झुर्रियां नहीं पड़ती नियमित रूप से रसीले और खट्टे फल जैसे अमरूद, संतरा, अंगूर कीवी इत्यादि खाकर आप पर्याप्त मात्रा में त्वचा को विटामिन सी की आपूर्ति कर सकते हैं।

2. इम्यूनिटी बूस्ट करने में विटामिन सी के फायदे

कई शोधों में ये बात सामने निकलकर आयी है कि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाये रखने के लिए विटामिन सी बेहद ज़रूरी है। ऐसे लोग जो बदलते मौसम में बीमारियों का शिकार हो जाते हैं या विभिन्न संक्रमणों से जूझते रहते हैं, उन्हें विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन जरूर करना चाहिए।

3. हड्डियों को मजबूत बनाता है विटामिन सी

जिन लोगों को हड्डियों संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, वे लोग विटामिन सी युक्त चीजों का सेवन करके लाभ पा सकते हैं। विटामिन सी हमारे शरीर में कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ावा देता है, जो कि हड्डियों को मजबूत बनाये रखने के लिए आवश्यक तत्व है। शरीर में विटामिन सी अथवा कैल्शियम, दोनों की ही कमी हड्डी से जुड़े रोगों का कारण बन सकती है

4. आयरन की कमी दूर करता है विटामिन सी

हमारे शरीर में रक्त की मात्रा उचित बनाये रखने के लिए आयरन बहुत ज़रूरी है। कई बार हमारा शरीर भोजन में से आयरन को पर्याप्त रूप से अवशोषित नहीं कर पाता, जिससे हम खून की कमी अथवा एनीमिया का शिकार हो सकते हैं। विटामिन सी शरीर में आयरन के अवशोषण को बढ़ाकर रक्त की पर्याप्त मात्रा बनाये रखता है। विटामिन सी से शरीर में रक्त वाहिकाएँ भी सुचारू रूप से कार्य करती है, इससे रक्तचाप नियंत्रण में रहता है और स्ट्रोक आदि का खतरा कम हो जाता है।

5. तनाव कम करता है विटामिन सी

विटामिन सी तन को स्वस्थ रखने के साथ-साथ मन को तंदुरुस्त रखने का भी अच्छा उपाय है। विटामिन सी युक्त फलों का सेवन हमारे तनाव के स्तर को कम करने में कारगर माना जाता है। इसलिए जब भी आपका स्नैक्स खाने का मन हो, अपने आपको रिफ्रेश करने के लिए आप रसीले फलों का सेवन कर सकते हैं।

विटामिन सी के नुकसान (Disadvantages of Vitamin C)

यूँ तो विटामिन सी के फायदे ढेर सारे हैं, पर शरीर में इसकी मात्रा का बढ़ना कई बीमारियों को भी जन्म दे सकता है। विटामिन सी के नुकसान निम्न हैं-:

विटामिन सी के नुकसान

1. किडनी को नुकसान

विटामिन सी का अधिक सेवन आपकी किडनी के लिए खतरनाक हो सकता है। विटामिन सी शरीर में आयरन के अवशोषण को बढ़ा देता है और अत्यधिक लौह तत्व आपकी किडनी के लिए खतरनाक हो सकता है। विटामिन सी का अत्यधिक सेवन पथरी की समस्या को बढ़ा सकता है।

2. पाचन तंत्र की समस्याएं

विटामिन सी की अधिकता होने से सबसे अधिक नुकसान शरीर में पाचन तंत्र को होता है। शरीर में विटामिन सी अधिक होने पर जी मिचलाना, उल्टी, दस्त व पेट की जकड़न उत्पन्न हो सकती है। इसलिए पेट की समस्याओं से बचने के लिए विटामिन सी सीमित मात्रा में लें।

3. सिरदर्द

विटामिन सी का अधिक मात्रा में सेवन सिरदर्द की समस्या को भी उत्पन्न कर सकता है। इस विषय पर सभी हेल्थ एक्सपर्ट्स एकमत हैं, इसलिए विटामिन सी सीमित मात्रा में ही लें।

4. आयरन की अधिकता

शरीर में पोषक तत्वों का संतुलन बना रहना आवश्यक है, पर अधिक विटामिन सी का अर्थ होगा शरीर में आयरन का अवशोषण अधिक होना। यह अपने आप में स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म देने वाला होगा।

5. पोषण तत्वों में असमानता

यूँ तो विटामिन सी शरीर के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है, पर इसका अधिक सेवन शरीर में पोषक तत्वों की उचित मात्रा को बिगाड़ सकता है। विटामिन सी शरीर में लौह के अवशोषण और तांबे व विटामिन बी 12 के स्तर को कम करने के लिए जाना जाता है। अतः अधिक विटामिन सी का उपभोग हमारे विकास में व्यवधान डाल सकता है।

विटामिन सी के स्रोत (Sources of Vitamin C)

विटामिन सी मुख्य रूप से फलों व सब्ज़ियों तथा अन्य शाकाहारी उत्पादों में मिलता है।न्यूट्रिशनिस्ट्स के अनुसार खट्टे फलों जैसे संतरा, अंगूर, नींबू इत्यादि का सेवन शरीर में विटामिन सी की आपूर्ति का सबसे आसान तरीका है। मुख्य रूप से विटामिन सी नारंगी, आँवला, नींबू, टमाटर, केला, दूध, सेब, चौलाई, चुकंदर, हरा धनिया, पालक, ब्रोकली, पुदीना, मूली के पत्ते, शलगम, कटहल, बेर, मुनक्का आदि में पाया जाता है। आवश्यकता पड़ने पर विटामिन सी की गोलियों का सेवन भी किया जा सकता है।

विटामिन सी की गोली कब लेनी चाहिए?

विटामिन सी हमारा शरीर स्वयं नहीं बना सकता, अतः इसकी आपूर्ति के लिए हम खाद्य पदार्थों और खासकर फलों जैसे अमरूद, संतरा, सेब, अंगूर आदि पर निर्भर रहते हैं। शरीर में विटामिन सी की पर्याप्त आपूर्ति के लिए एक पुरुष को दिनभर में लगभग 90 मिलीग्राम और महिला को लगभग 75 मिलीग्राम विटामिन सी प्रतिदिन लेना चाहिए। प्राकृतिक रूप से विटामिन सी की कमी होने पर चिकित्सक विटामिन सी की गोलियां लेने की सलाह देते हैं। इन गोलियों को चिकित्सक के परामर्श के बाद आहार के रूप में लिया जा सकता है। हालांकि इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि दिन में 100 मिलीग्राम से अधिक विटामिन सी लेना पेट दर्द, मितली, सिरदर्द, सीने में जलन, उल्टी इत्यादि का कारण बन सकता है।

विटामिन सी हमारे शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्व है जो हमें कई बीमारियों से बचे रहने में मदद करता है। विटामिन सी शरीर के लिए तभी तक फायदेमंद है जब तक इसका सेवन सीमित मात्रा में किया जाए, अन्यथा यह नुकसान भी पहुंचा सकता है। इस आर्टिकल में हमने आपसे विटामिन सी के फायदे और नुकसान साझा किए। कैसा लगा आपको हमारा ये आर्टिकल, हमें बताइये, साथ ही इसे शेयर कीजिये अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ। ऐसी ही अनमोल जानकारी, और नई-नई रेसिपीज़ के लिए जुड़े रहिये BetterButter के साथ।

इन्हें पढ़ना न भूलें

विटामिन बी12 फ़ूड लिस्ट

विटामिन ई की कमी होने के कारण, लक्षण और रोकथाम

बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ

सलाद खाने के फायदे

आंवले के फायदे

नींबू पानी पीने के फायदे

Source: Facts About Vitamin C

 

Disclaimer-: BetterButter इस ब्लॉग में प्रकाशित किसी भी चित्र अथवा वीडियो का आधिकारिक दावा नहीं करता है। इस ब्लॉग में सम्मिलित दृश्य-श्रव्य सामग्री पर मूल रचनाकार के अधिकार का हम पूरा सम्मान करते है तथा प्रकाशित रचना का उचित श्रेय रचनाकार को देने का पूर्ण  प्रयास करते है। अगर इस ब्लॉग में सम्मिलित किसी भी चित्र या वीडियो पर आपका कॉपीराइट है और आप उसे BetterButter पर नहीं देखना चाहते तो हमसे संपर्क करें। उक्त सामग्री को ब्लॉग से हटा दिया जायेगा। हम किसी भी सामग्री के लेखक, फोटोग्राफर एवं रचनाकार को उसका पूरा श्रेय देने में विश्वास करते है।

Himanshu Pareek

हिमांशु एक लेखक हैं और उन्हें खान-पान, आयुर्वेद, अध्यात्म एवं राजनीति से सम्बंधित विषयों पर लिखने का अनुभव है। इसके अलावा हिमांशु को घूमना, कविताएँ लिखना-पढ़ना और क्रिकेट देखना व खेलना पसंद है।

COMMENTS (4)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *